देश की पहली कोरोना वायरस पीड़िता हो रही स्वस्थ, जल्द मिल सकती है अस्पताल से छुट्टी

सौ:हिंदुस्तान लाइव

कोरोना वायरस से दुनियाभर में मचे कोहराम के बीच भारत के लिए एक अच्छी खबर सामने आई है। देश की पहली कोरोना वायरस से पीड़ित छात्रा स्वस्थ हो रही है और जल्द अपने घर जा सकती है। चीन के वुहान से त्रिशूर वापस लौटी छात्रा का हालिया सैंपल नेगेटिव आया है। त्रिशूर मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर ने बताया कि वे एक और सैंपल के नतीजे के इंतजार में हैं, जिसके बाद वह घर जा सकेगी।

केरल में अब तक कोरोना वायरस के तीन पॉजिटिव मामले पाए जा चुके हैं। तीनों मरीज चीन के वुहान से लौटे थे। पहला मामला 30 जनवरी को सामने आया था। त्रिशूर मेडिकल कॉलेज के वरिष्ठ डॉक्टर ने कहा कि छात्रा पूरी तरह से स्वस्थ हो चुकी है। हम एक और सैंपल के नतीजे का इंतजार कर रहे हैं, जिसके बाद वह घर वापस जा सकेगी। स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा कि दो अन्य मरीज भी ठीक होने वाले हैं।’

इससे पहले केरल में पिछले कुछ दिनों में कोरोना वायरस का एक भी नया पॉजिटिव मामला सामने नहीं आने के बाद राज्य सरकार ने आपदा स्थिति चेतावनी वापस ले ली थी। हालांकि, केरल में अब भी 3000 से अधिक लोग चिकित्सकीय निगरानी में हैं। स्वास्थ्य मंत्री के के शैलजा ने कहा था कि इस विषाणु के मामूली लक्षण सामने आने के बाद 3014 लोग चिकित्सकीय निगरानी में हैं, 2953 लोगों को घर में अलग से रहने का निर्देश दिया गया है और 61 लोग अस्पताल में हैं।

चीन में अब तक 908 की मौत: चीन में लगातार कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है। घातक वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 908 हो गई है जबकि इस संक्रमण के 40,000 से अधिक मामलों की पुष्टि हो चुकी है। उधर, डब्ल्यूएचओ की अगुवाई में अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञों का एक दल इस महामारी पर काबू पाने में मदद के लिए चीन पहुंच रहा है।

चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने बताया कि रविवार को इससे 97 और लोगों की जान चली गई तथा 3,062 नए मामले सामने आए। उसने बताया कि शनिवार को जिन 97 लोगों की जान गई, उनमें से 91 हुबेई प्रांत के थे, जहां इस विषाणु के कारण सबसे अधिक लोग मारे गए हैं। इसके अलावा दो लोग अनहुइ में मारे गए। हीलोंगजियांग, जिआंगशी, हैनान और गान्सू में इससे एक-एक व्यक्ति की जान गई है।