राज्य सरकार की ओर से कोरोना संक्रमण के बढ़ते कहर के बाद के सख्त पूर्ण लॉकडाउन लगाने की घोषणा

चित्तौड़गढ़ से गोपाल चतुर्वेदी की रिपोर्ट चित्तौड़गढ़ / राज्य सरकार की ओर से कोरोना संक्रमण के बढ़ते कहर के बाद के सख्त पूर्ण लॉकडाउन लगाने की घोषणा की गई थी लेकिन चित्तौड़गढ़ मैं इस लोक डाउन मैं भी आमजन की लापरवाही कम होने का नाम नहीं ले रही है और आमजन बेवजह सड़कों पर आम दिनों की तरह अपने वाहनों को लेकर सरपट दौड़ता हुआ दिखाई दे रहा है जिसके सामने पुलिस प्रशासन भी लाचार दिखाई दे रहा है चित्तौड़गढ़ जिले में भी इन दिनों राज्य सरकार की ओर से लागू किए गए 10 से 24 मई तक सख्त लोकडाउन जारी है जो कि मात्र औपचारिकता बनकर रह गया है सोमवार को मुख्यालय पर लोकडाउन का किसी प्रकार का कोई भी असर दिखाई नहीं दिया है और आमजन बेवजह लापरवाही के साथ अपने वाहनों को लेकर सड़कों पर सरपट दौड़ता हुआ दिखाई दिया जिसके कारण सड़कों पर आम दिनों की तरह यातायात दिखाई दिया, जिसमें सभी प्रमुख सड़को पर वाहनों की लंबी कतारें भी देखने को मिल रही है वहीं चित्तौड़गढ़ में सोमवार को 2 दिन बाद खुले बाजारों में भी आमजन की अच्छी खासी भीड़ दिखाई दी है और आमजन कोरोना संक्रमण को दरकिनार करते हुए खरीदारी करता हुआ दिखाई दिया वही चित्तौड़गढ़ के प्रमुख मार्गों पर वाहनों की लंबी कतारें देखकर यही लगता है कि चित्तौड़गढ़ पुलिस आमजन की लापरवाही के सामने लाचार दिखाई दे रही है गौरतलब है कि चित्तौड़गढ़ में आमजन की लापरवाही के चलते ही कोरोना का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है और प्रतिदिन लगभग 500 केस निकल कर सामने आ रहे हैं वही जब भी कभी पुलिस कर्मियों ने आमजन को रोककर उनका चालान बनाने का प्रयास किया तो कोई बहाना बना कर आमजन अपने आप को बचाता हुआ दिखाई दिया जो कि आने वाले समय के लिए चित्तौड़गढ़ के लिए सुखद संकेत नहीं है