महरोली टीबी अस्पताल में मेडिकल कीट, भाप मशीन बाँटे

 

 

सुषमा रानी
नई दिल्ली 30 मई।दिल्ली काँग्रेस प्रभारी व राज्यसभा सांसद श्री शक्ति सिंह गोहिल , अध्यक्ष चौधरी अनिल कुमार सहित तमाम वरिष्ठ नेताओं ने महरोली स्थित टीबी अस्पताल के मरीजों को ने PPE किट पहन कर भाप लेने वाले मशीन व मेडिकल कीट व उनके परिजनों के बीच काँग्रेस रसोई के माध्यम से पका हुआ खाने का वितरण किया ।
मरीजों व उनके परिजनों से टीके व राहत नहीं मिलने की शिकायत पर दिल्ली काँग्रेस अध्यक्ष चौधरी अनिल कुमार ने कहा कि केजरीवाल सरकार द्वारा दिल्ली में सही समय पर टीका ख़रीद का आदेश नहीं दिए जाने के कारण 18-44 वर्ष के युवाओं द्वारा पहले डोज के रूप में लिए गए 1.5 लाख से अधिक को-वेक्सीन के टीके व्यर्थ होने के कगार पर है ! उन्होंने केंद्र सरकार व केजरीवाल सरकार से अपील किया है कि को- वेक्सीन के टीके की आपात व्यवस्था किया जाए।
दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष चौधरी अनिल कुमार ने टीके व्यर्थ होने की संभावित खतरे के बारे में विस्तार से बताते हुए कहा कि 1 मई के बाद 8.17 लाख टीके 18-44 वर्ष के युवाओं को लगे है; इनमें से 1.5 लाख को-वेक्सीन व 6.67 लाख कोवीशील्ड है। उन्होंने बताया कि 28-42 दिनों के बीच को-वेक्सीन के दूसरे डोज लेने होते है। इस हिसाब से जिन्होंने 1 मई को कोवेक्सिन के टीके लगवाये उन्हें 29 मई से 11 जून के बीच ही दूसरा डोज लगवाने होंगे। उन्होंने कहा कि वर्तमान में राजधानी में 18-44 आयु वर्ग के लिए टीके खत्म है। 10 जून के बाद ही 5.5 लाख टीके उपलब्ध होने की बात हो रही। उन्होंने कहा कि ये स्पष्ट नहीं है कि इनमें कितने टीके कोवेक्सिन होंगे। उन्होंने चिंता जताया कि कोवेक्सिन का पहला डोज लगा चुके 1.5 लाख लोगों का पहला डोज बर्बाद हो जाएगा। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार व दिल्ली सरकार को अविलंब आपात टीके का व्यवस्था करना चाहिए।

चौधरी अनिल कुमार ने खाद्य एवम नागरिक आपूर्ती विभाग के मंत्री द्वार दिए गए अखबारों में छपे बयान को आधार बनाकर कहा कि दिल्ली में लगभग 54 लाख राशन लाभार्थियों के आवेदन दिल्ली सरकार के पास पिछले 6 वर्षों से लंबित है। पिछले वर्ष 60 लाख बिना राशन कार्ड धारकों ने राशन की माँग किया था।

उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के डेढ़ महीने बाद सुप्रीम कोर्ट से आदेश के बाद सरकार सिर्फ 2 लाख लोगों जो कि पिछले साल की तुलना में मात्र 3% है, के लिए योजना बना खानापूर्ती करने की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि यह गरीबों, प्रवासी मजदूरों के साथ धोखा है, दिल्ली सरकार से काँग्रेस पार्टी लागातार माँग कर रही है कि सभी जरूरत मंदो को 10,000 रूपये व मुफ्त पका हुआ तथा सूखा राशन उपलब्ध कराया जाये।