कोरोना की दवाई पहुचाने की जगह केजरीवाल अब हर घर शराब पहुचाऐंगे। दिल्ली को बनाया नशे की राजधानी – चौ0 अनिल कुमार

  सुषमा रानी नई दिल्ली, 01 जून, । दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल द्वारा नई एक्साईज पॉलिसी में बदलाव आपदा में अवसर की तरह है। अरविन्द सरकार नई शराब नीति को हरी झंडी देकर लॉकडाउन में घर-घर शराब पहुचाने का काम करेंगी। चौ0 अनिल कुमार ने कटाक्ष करते हुए कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अब कोरोना संक्रमण को दवा से नहीं शराब से हराने का फैंसला लिया है वह दिल्ली को तबाही की ओर लेकर जाऐगा और भविष्य में इसके दुष्परिणाम सामने आऐंगे। चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि दिल्ली सरकार कोरोना एप में अस्पतालों में बेड दिलाने में नाकाम रही और वहीं कोविन एप के द्वारा टीका भी दिलाने में फेल रही है लेकिन अब एप के माध्यम से घर-घर शराब परोसी जाऐगी। प्रदेश कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन को प्रदेश अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार के साथ मुख्यमंत्री के पूर्व संसदीय सचिव श्री अनिल भारद्वाज ने भी सम्बोधित किया व श्री परवेज आलम भी मौजूद थे। संवाददाता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए चौ0 अनिल कुमार ने चिंता व्यक्त की कि जहां आज दुनिया के विशेषज्ञ डाक्टर कोविड के तीसरे वेव को लेकर चिंतित है, मुख्यमंत्री दिल्ली में ऑनलाईन तथा मोबाईल एप्प के तहत घर-घर शराब पहुॅचाने की तैयारी करके दिल्ली को नशे की राजधानी बनाने जा रहे है। संकट के समय में दिल्ली सरकार की प्राथमिकता शराब की नीति मॉडल के रुप में उभर कर आई है। चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री दिल्ली के लिए यह किस तरह के फैंसले ले रहे है, जिसमें युवाओं की आयु घटाकर उन्हें शराब पीने के लिए प्रोत्साहित कर रहे है। नई शराब नीति स्वास्थ्य को जोखिम में डालने का काम कर रही है, इसके द्वारा होने वाले नुकसान की जवाबदेही किसकी है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी के संकट में मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल जनता के हितों से जुड़े मुद्दों पर संवेदनहीन फैसले ले रहे है।