शिक्षा एवं रोजगार का मार्गदर्शन करेगा एमआईटीएमएस उत्तर बिहार का अग्रणी संस्थान मिथिला इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड मेडिकल साइंस डॉक्टर जमशेद आलम

दरभंगा से जियाउद्दीन अहमद अली सिद्दीकी की रिपोर्ट दरभंगा:- मिथिला की राजधानी दरभंगा में मंगलवार को पहले ऐसे संस्थान का शुभारंभ हुआ जिस से मिथिला के मेधावी छात्र छात्राओं  के उन सपनों को उड़ान मिलेगी जिसके लिए छात्र महानगरों में भटकते रहे हैं । शहर के करमगंज स्थित अल हेलाल हॉस्पिटल के ऊपरी मंजिल पर इन्ही सपनो को अपने ही शहर में रहकर पूरा करने के उद्देश से मिथिला इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड मेडिकल साइंस का उद्घाटन करते हुए मिल्लत कॉलेज के राजनीति शास्त्र के विभागाध्यक्ष डॉ जमशेद आलम ने कहा कि यह संस्था विकसित दरभंगा की एक नई तकदीर लिखने में मील का पत्थर साबित होगा । विशेष रूप से उन्होंने संस्था के चेयरमैन और जाने माने चिकित्सक डॉ अहमद नसीम आरजू सहित संस्था की निदेशक मंडली को धन्यवाद देते हुए कहा कि उन्होंने क्षेत्र के उन लोगों की चाहत को पूरा किया है जिसकी वो हमेशा कल्पना किया करते थे । यह उन बच्चों के लिए स्वर्णीम अवसर के रूप में है जो आर्थिक और पारिवारिक कारणों से प्रदेशों में जाकर उच्च शिक्षा नही ले पाते हैं । इस से पूर्व संस्था के निदेशक शाहिद अतहर ने सभी अतिथियों का पाग और मोमेंटो देकर स्वागत किया । साथ ही उपस्थित अभिभावकों और छात्र छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि आज के युग में तकनीकि शिक्षा का बड़ा महत्व है । रोजगार के नजरिए से भी आज उन्ही छात्रों को ज्यादा अवसर मिल रहा है जो तकनीकि गुणों से संपन्न हैं । इस संस्थान की स्थापना  व्यवसायिक नही  बल्कि आपके उज्ज्वल भविष्य के लिए की गई है । संस्थान का विकास भी तभी होगा जब आपका विकास होगा । इसलिए हमने पारामेडिकल हो या फिर मैनेजमेंट , पत्रकारिता , सेफ्टी मैनेजमेंट ऐसे सभी कोर्सों को आपके लिए शुरू किया है जिस से कि आप रोजगार के लिए कभी भटके नहीं । वहीं कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए संस्था के मैनेजर तनवीर इमाम ने कहा कि बहुत ही जल्द यह संस्था  मिथिला का गौरव बनकर उभरेगा । अंतिम में श्री तनवीर ने सभी अतिथियों , अभिभावकों और छात्रों का धन्यवाद ज्ञापन भी किया । मौके पर शिक्षक गोपी किशन , राजेश कुमार यादव , मो निसार अहमद , सिद्दीका खातून , मो अब्दुल्लाह , व अभिभावक के रूप में नजीब अख्तर उपस्थित रहे