व्यावसायिक पाठ्यक्रम शिक्षा प्राप्त करके रोजगार प्राप्त करना सरल होता है: डॉक्टर खालिद अनवर

दरभंगा से जियाउद्दीन अहमद अली सिद्दीकी की रिपोर्ट दरभंगा  विगत वर्षों से पूरा संसार कोरोना जैसी महामारी से त्रस्त है जिसके वजह से लाखों लोगों की जान अब तक जा चुकी है। अभी तक हम लोगों ने दो लहर देखी है, वैज्ञानिक एवं स्वास्थ्य विभाग के अनुसार तीसरी लहर भी आने की संभावना है। इस महामारी में स्वास्थ्य से जुड़े डॉक्टर, नर्स एवं पारामेडिकल स्टाफ ने जिस हिम्मत एवं बहादुरी के साथ मरीजों के इलाज, जांच एवं देखभाल की है उसके लिए हम सभी लोग उनका सम्मान करते हैं। शिक्षा ही हमें अच्छे बुरे की पहचान बताती है।व्यवसायिक पाठ्यक्रम में पारामेडिकल कोर्सेज करके आज सरकारी एवं गैर सरकारी अस्पताल, संस्था एवं रेड क्रॉस इत्यादि में रोजगार प्राप्त करना आसान हो गया है। यह बातें डॉक्टर खालिद अनवर असिस्टेंट प्रोफेसर वनस्पति विभाग चंद्रधारी मिथिला विज्ञान महाविद्यालय ने आज मिथिला इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड मेडिकल साइंस के सेमिनार हॉल में “आज की जरूरत पैरामेडिकल कोर्स” विषय पर छात्र छात्राओं को संबोधित करते हुए कही। डॉक्टर खालिद अनवर ने कहा कि शिक्षा की प्राप्ति उतनी ही आवश्यक है जितने जीने के लिए सांस लेने की आवश्यकता है। डॉक्टर खालिद ने बच्चों को सफलता प्राप्त करने के कई गुर बताते हुए उदाहरण स्वरूप कहा कि मैंने अपनी जिंदगी में कितने प्रतियोगिता में सफलता प्राप्त की है। आपको सफलता प्राप्त करना है या असफलता होना है यह आप पर निर्भर करता है कि आप समय में सही फैसला करते हैं या नहीं करते हैं। कार्यक्रम में डॉ खालीद जानवर को मोमेंटो देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अधिवक्ता शाहिद अतहर ने कहा कि मिथिला इंस्टिट्यूट में छात्र-छात्राओं को पाठ्यक्रम के अलावा अंग्रेजी एवं कंप्यूटर की शिक्षा डॉक्टर दस्तगीर आलम असिस्टेंट प्रोफेसर अंग्रेजी विभाग के द्वारा अंग्रेजी एवं तनवीर ईमाम (एमबीए) के द्वारा कंप्यूटर की शिक्षा दी जाती है। कार्यक्रम में शिक्षक गोपी किशन, राजेश कुमार यादव, मोहम्मद निसार आलम, सिददीका खातून, मिर्जा खुर्रम बैग के अलावा सभी छात्र छात्रा शामिल हुए