मिथिला के मेधावी छात्र राजा चौधरी अधिवक्ता को सम्मानित किया गया राजा चौधरी दबी कुचली आवाजों के बनेंगे बुलंद आवाज डॉक्टर आरजू

दरभंगा से जियाउद्दीन अहमद अली सिद्दीकी कि रिपर्ट : मिथिला के लाल अधिवक्ता राजा चौधरी हिंदू कॉलेज, दिल्ली विश्वविद्यालय से विधि की पढ़ाई समाप्त करने के बाद अब एल एल एम की पढ़ाई हेतु लंदन विश्वविद्यालय जा रहे हैं। यह बड़े गौरव की बात है। हमें अति गर्व हो रहा है कि पिछड़े इलाके के बच्चे भी अब विदेश शिक्षा प्राप्त करने जा रहे हैं। यह बातें प्रोफेसर बदरे आलम खान पूर्व प्रधानाचार्य सी एम लॉ कॉलेज दरभंगा ने मुख्य अतिथि के रुप में बोलते हुए कहा की मिथिला इंस्टिट्यूट आफ टेक्नोलॉजी एंड मेडिकल साइंस दरभंगा के सेमिनार हॉल में राजा चौधरी को सम्मानित करते हुए कहा। प्रोफ़ेसर बदरे आलम खान ने राजा चौधरी से कहा कि अब आप पर समाज के लोगों को आगे ले जाने की जिम्मेदारी बढ़ गई है। उन्होंने कहा कि मैं डॉक्टर अहमद नसीम आरजू को बहुत-बहुत बधाई देता हूं कि उनके नेतृत्व में शिक्षा एवं उससे जुड़े लोगों का हमेशा आदर सत्कार किया जाता है। विशिष्ट अतिथि अधिवक्ता रवि शंकर प्रसाद अध्यक्ष जिला अधिवक्ता संघ दरभंगा ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि राजा चौधरी हमारे लिए एक उदाहरण हो गया है कि हम जिस शिक्षा से जुड़े हैं उस में अधिक से अधिक सफलता प्राप्त करके अपने माता-पिता एवं समाज का नाम रोशन करें। मैं मिथिला इंस्टिट्यूट के छात्र छात्राओं से भी विनम्र निवेदन करता हूं कि पारा मेडिकल में उच्च शिक्षा एवं बेहतरीन अनुभव प्राप्त कर परिवार एवं समाज का कल्याण करें। कार्यक्रम के विशेष अतिथि अधिवक्ता राजा चौधरी ने अपनी शिक्षा प्राप्त करने की पूरी जीवनी बताते हुए कहा कि दरभंगा जिला भारत में एकमात्र जिला है जहां एक ही प्रांगण में दो विख्यात विश्वविद्यालय है। दरभंगा महाराजा कामेश्वर सिंह ने सन 1931 में लगभग 100 पौंड शिक्षा जगत में कार्य करने के लिए डॉक्टर भीमराव अंबेडकर को दिए। जिसका पूरी तरह से सदुपयोग करते हुए डॉक्टर अंबेडकर ने पूरे भारतवर्ष में कई शिक्षण संस्थान का आरंभ किया। राजा चौधरी ने कहा कि मैं मिथिला इंस्टिट्यूट का आभारी हूं कि उन्होंने मुझे अपनी बात रखने का अवसर दिया। मिथिलांचल क्षेत्र ने हमेशा अच्छे शिक्षाविद पैदा करने का कार्य किया है। कार्यक्रम का शुभारंभ छात्र अकरम रजा के तिलावत से शुरू होने के बाद सभी अतिथियों को शॉल एवं मोमेंटो देकर सम्मानित किया गया। मैक्सिमाईंड हेल्थकेयर प्राइवेट लिमिटेड नई दिल्ली के चेयरमैन मिथिला के मशहूर समाजसेवी डॉ अहमद नसीम आरजू निर्देशक अलहिलाल हॉस्पिटल ने अध्यक्षता करते हुए कहा कि निस्संदेह राजा चौधरी ने हम लोगों का मान सम्मान बढ़ाया है। इसके लिए मिथिला इंस्टिट्यूट की ओर से हम आपके उज्जवल भविष्य की कामना करते हैं एवं आशा करते हैं कि आप अपनी शिक्षा पूरी करने के बाद वापस आने पर यहां के पिछडे दबे कुचले वर्ग की आवाज को बुलंद करने का कार्य करेंगे। मंच का संचालन करते हुए अधिवक्ता शाहिद अतहर ने कहा कि मैं प्रोफेसर डॉक्टर रतनलाल हिंदू कॉलेज दिल्ली विश्वविद्यालय का आभारी हूं कि उनके अथक प्रयास से होनहार छात्र राजा चौधरी आज हम लोगों के बीच हैं। अंत में धन्यवाद ज्ञापन तनवीर ईमाम मैनेजर मिथिला इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड मेडिकल साइंस ने किया। कार्यक्रम में सिंघवारा प्रखंड के मशहूर समाजसेवी मोहम्मद मनाज़िर और तमन्ना को भी सम्मानित किया गया