इमरान प्रतापगढ़ी पहुंचे असम भाजपा के ज़ुल्म के खिलाफ हर मोर्चे पर लड़ना है-इमरान प्रतापगढ़ी

सुषमा रानी/ब्यूरो 5 अक्टूबर स्टार न्यूज ब्यूरो।अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी अल्पसंख्यक विभाग के राष्ट्रीय अध्यक्ष इमरान प्रतापगढ़ी अपने एक दिवसीय दौरे पर असम पहुंचे जहां वह धौलपुर में मैनुल हक़ और शेख फरीद के घर पहुंचे। इमरान प्रतापगढ़ी ने कहा कि भाजपा की सरकारों के ज़ुल्म के खिलाफ़ हमें हर मोर्चे पर लड़ना है, एक तरफ यूपी में किसानों को कुचला जा है तो दूसरी तरफ असम में पुलिस की गोली ने मैनुल हक़ और शेख फ़रीद को मार डाला है । कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग के राष्ट्रीय चेयरमैन इमरान प्रतापगढ़ी अपनी पूरी टीम के साथ असम के गॉंव धौलपुर पँहुचे और पुलिस की गोली से मारे गये मैनुल हक़ और शेख फ़रीद के परिवार को एक एक लाख की आर्थिक सहायता प्रदान की और साथ ही घायलों के इलाज और क़ानूनी मदद के लिये असम कॉंग्रेस अल्पसंख्यक विभाग को निर्देशित किया। असम में कॉंग्रेस के उप नेता प्रतिपक्ष एवं पूर्व मंत्री रकीबुल हसन और स्टेट चेयरमैन सलमान ख़ान ने कई विधायकों संग इमरान प्रतापगढ़ी की अगवानी की और उन्हें एअरपोर्ट से लेकर घटनास्थल तक साथ गये और वापसी में गुवाहाटी में प्रेस के साथियों को संबोधित किया। इमरान प्रतापगढ़ी ने कहा कि मुख्यमंत्री हेमंत विस्वा सरमा की सांप्रदायिक नीति ने असम की सामाजिक एकता को खंडित कर रखा है, मुख्यमंत्री लगातार पुलिस की इस गोलीबारी को सही ठहरा रहे हैं, मीडिया के एक सवाल कि जिस मैनुल हक को गोली मारी गई उसके हाथ में लाठी क्यूँ थी, तब इमरान प्रतापगढ़ी ने जवाब दिया कि लाठी तो महात्मा गॉंधी के भी हाथ में थी तो क्या दो दर्जन पुलिस वाले मिलकर एक व्यक्ति को सीने पर गोली मार देंगे ? धौलपुर गांव में दो नदियों को पार करके पँहुचे इमरान प्रतापगढ़ी ने वहॉं का ऑंखों देखा हाल मीडिया को बताते हुए कहा कि जिस जगह लोगों के पँहुचने के लिये रास्ता तक नहीं, रहने के लिये छप्पर तक नहीं, पीने के पानी के लिये नल तक नहीं वहॉं से भी मुख्यमंत्री मुस्लिम समाज के लोगों को उजाड़ देना चाहते हैं आख़िर वो इतनी नफ़रत दिल में रखकर सूबो को कैसे चला पायेंगे ? मैनुल हक़ के 2 साल के बेटे मुक़द्दिस अली से मिलकर भावुक हुए इमरान ने मुख्यमंत्री हेमंत से अपील किया है कि आप भी तो किसी पिता के बेटे हैं, किसी बेटे के पिता हैं कम से कम थोड़ी तो इंसानियत और थोड़ी तो जम्हूरियत बचाकर रखिये । इमरान प्रतापगढ़ी ने कहा कि जिस गॉंव में पँहुचने के लिये पहले नाव फिर ट्रैक्टर ट्राली, फिर मोटर साइकिल का इस्तेमाल करना पड़े असम की भाजपा सरकार वहॉं भी अवाम को सुकून से नहीं रहने देना चाहती। इमरान प्रतापगढ़ी ने एलान किया है कि वो पूरे मामले की रिपोर्ट राहुल गॉंधी जी को सौंपेंगे । इस मौके पर इमरान प्रतापगढ़ी के साथ वाहिद कुरैशी,अहमद खान,फहीम अहमद,मोहम्मद शमीम,फरहान आज़मी,शिवकुमार दुबे,सुशील यति, शमसरविश रेन,मिनारुल कुरेशी मौजूद रहे