स्कूलों में लटका ताला, बच्चे बैरंग लौटे घर

 

आमस

आमस प्रखण्ड के पचास प्राथमिक स्कूलों पूर्णतालाबंदी होने के बाद अब बच्चे बैरंग घर लौट रहे हैं। जिससे उनकी पढ़ाई भी बाधित हो रही है साथ ही दोपहर का भोजन से भी बच्चे वंचित हैं। मालूम हो कि बीते सोमवार से सूबे के सभी नियोजित शिक्षक समान काम के बदले समान वेतन की मांग को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए हैं। बिहार राज्य संघर्ष समन्वय समिति प्रखण्ड आमस के नेतृत्वकर्ता कपिलदेव पासवान और अनिल कुमार यादव ने बताया कि वेतनमान, सहायक शिक्षक का दर्जा, राज्य कर्मी का दर्जा आदि मिल जाने तक हड़ताल जारी रहेगा तथा हम सभी शिक्षक साथी बीआरसी में डटकर विरोध प्रदर्शन करते रहेंगे। हालांकि गुरुवार को भी प्रखण्ड के सभी शिक्षक बीआरसी में डटे रहे और हड़ताल को सफल बनाने हेतु कार्ययोजना बनाई। इस मौके पर वीरेंद्र कुमार, नरेंद्र कुमार, जितेंद्र कुमार, शिक्षक जगत यादव, रंजीत राज, सुनील कुमार, योगेंद्र कुमार, फिराज़ अहमद, सोहैल अंजुम, मोनाजिर हुसैन, सुजीत कुमार, अब्दुल्लाह अंसारी, इमरोज़ अली, हिफज़ूर रहमान, संजय कुमार, अविनाश कुमार , ओणम रानी, रेशमा बनो, जावेद कलामी, जुनैद अंसारी और कुमारी रंजू समेत काफी तादाद में लोग मौजूद रहे।