क्या फिर लॉकडाउन लगने वाला है?

  मौ. जावेद हुसैन कोरोना के लगातार बड़ते हुए मामले को देखते हुए फिर एक बार बाहरी राज्यों से दिल्ली और NCR में आये हुए मजदूरों को एक बार फिर डर सताने लगा है। मजदूरों को लगता है की फिर लॉकडाउन लगने जा रहा है, हांलाकि केंद्र सरकार ने या किसी भी राज्य सरकार ने लॉकडाउन के लिए फ़िल्हाल की दिलचस्पी नही दिखाई है। लेकिन इसका मतलब ये नही की लॉकडाउन नही लगेगा।दरअसल मजदूरों को पहले जैसा डर सता रहा है जिस वक़्त पूरे देश मे लॉकडाउन लगा दिया गया था जिसकी वजह से मजदूर तबका पूरी तरह से नस्त नाबूद हो गया था। उस वक़्त काफी मजदूरों ने अपनी जान गवाई तो कईयो ने पैदल ही सफर शुरू कर दिया था लॉकडाउन खुलने के बाद उन्हे फिर एक आशा की किरन नज़र आने लगी और वो फिर अपना गाँव छोड़कर दूसरे रज्यो मे मजदूरी के लिए आ गए।हालाँकि केंद्र या राज्य सरकारें मजदूरों को सही तरह से नही संभाल पाईं थी लेनिक अपनी राजनीति चमकाने के लिए सरकारें खुद अपनी पीठ थपथपा रहीं थी। स्टार न्यूज़ के एडिटर नौशाद उस्मानी ने उस वक़्त मौके पर पहुँच कर आनंद विहार बस स्टैंड का नज़ारा हमारे यूट्यूब पोर्टल के ज़रिए लाइव दिखाया था।जिसमे सरकारों की सच्चाई पता चल रही थी। अभी कुछ राज्यों ने नाईट कर्फ्यू भी लगा दिया है। जहाँ दिल्ली मे सभी तरह के कॉलेज, संस्थान, स्कूल और इंस्टीट्यूट पूरी तरह से अगले आदेश आने तक बन्द कर दिये गए हैं। इसी की साथ बार और रेस्टुरेंट भी बन्द कर दिये गए हैं। मेट्रो और बस 50% यात्रियों की छमता के साथ चलेगी।इन्ही सब को देखते हुए कुछ मजदूरों ने अभी से जाना शुरू कर दिया है। अब देखना यह है की क्या वाक़ई लॉकडाउन लगने जा रहा है या असमाजिक तत्वों के ज़रिए ये अफवाह फैलाई जा रही है।