पंजाब में पीएम की सुरक्षा में कमी दिल्ली बीजेपी का मौन धरना

  सुषमा रानी नई दिल्ली, 7 जनवरी। भारतीय जनता पार्टी द्वारा आज दिल्ली के राजघाट में प्रधानमंत्री की सुरक्षा में हुई बड़ी चूक की निंदा करते हुए आज मौन धरना दिया गया। साथ ही कांग्रेस को सद्बुद्धि देने हेतु प्रार्थना भी की गई। ताकि विश्व के सबसे प्रिय नेता प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की जान को जिस तरह से कांग्रेस ने गन्दी राजनीति का उदाहरण देते हुए खतरे में डाला गया इससे कांग्रेस की मानसिकता का पता चलता है। इस मौके पर भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री श्री दुष्यंत गौतम, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष श्री आदेश गुप्ता, नेता प्रतिपक्ष श्री रामवीर सिंह बिधूड़ी, पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन एवं श्री विजय गोयल, सांसद श्री रमेश बिधूड़ी एवं श्री प्रवेश साहिब सिंह, असम भाजपा के सह-प्रभारी श्री पवन शर्मा, भाजपा महामंत्री एवं कार्यक्रम के संयोजक श्री हर्ष मल्होत्रा सहित अन्य पदाधिकारी एवं भाजपा नेता मौजूद रहे। मौन धरना के उपरांत पत्रकारों से बात करते हुए भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री एवं पंजाब के प्रभारी श्री दुष्यंत गौतम ने कहा कि कांग्रेस का इस समय पंजाब में सत्ता से जाना तय हो चुका है और कांग्रेस जब जब सत्ता में गायब हुई है तब तब अराजकता फैलाने का काम किया है।आज देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के काफ़िले को पाकिस्तान बॉर्डर के नजदीक क्लीन चिट मिलने के बाद रोकने का काम किया गया, वह एक सोची समझी साजिश थी। राहुल गांधी को पाकिस्तानी टीवी चैनल के हीरो बताते हुए श्री दुष्यंत गौतम ने कहा कि राहुल गांधी तो वह भाषा बोलते हैं जो चीन उन्हें बताता है। राहुल गांधी को यह जानकारी होना चाहिए कि श्रीलंका में जब राजीव गांधी के ऊपर हमला हुआ था तो उस वक्त हम सब उनके साथ खड़े थे, लेकिन आज सत्ता पाने की लालच में राहुल गांधी को देश के प्रधानमंत्री की गरिमा से ज्यादा कुर्सी जरूरी है। मौन धरना के बाद पत्रकारों से बात करते हुए प्रदेश भाजपा अध्यक्ष श्री आदेश गुप्ता ने कहा कि हमें गर्व है कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी विश्व भर में सबसे लोकप्रिय नेताओं में से एक हैं लेकिन जिस तरह से उनकी सुरक्षा में चूक कर उनकी जान को खतरे में डाला गया उससे कांग्रेस की मानसिकता का पता चलता है। आज कांग्रेस के लिए सत्ता, चुनाव और कुर्सी बड़ी चीज हो गई है लेकिन उसे प्रधानमंत्री पद की गरिमा का थोड़ा भी आभास नहीं है। लोकतंत्र में सबको राजनीति और अपना प्रचार करने का हक़ है लेकिन इस तरह से देश के प्रधानमंत्री की जान को जोखिम में डालने का कृत्य कर कांग्रेस ने अपनी देश विरोधी मानसिकता को आज देश के सामने जाहिर कर दी है। एक सवाल के जवाब में श्री गुप्ता ने कहा कि आज अगर किसी प्रधानमंत्री ने बॉर्डर पर ईट का जवाब पत्थर से हमारे जवानों के द्वारा दिया गया है तो वह सिर्फ श्री नरेन्द्र मोदी के कार्यकाल में हुआ है, चाहे सर्जिकल स्ट्राइक हो या फिर एयर स्ट्राइक। आज जब कांग्रेस की गलती पूरी तरह से बेनक़ाब हो चुकी है तो उनके नेता अलग-अलग तरह की बातें कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने षड्यंत्र रचकर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी को बदनाम करने की कोशिश की। पंजाब में सिखों के अंदर हिन्दू-सिख को प्रधानमंत्री के खि़लाफ़ भड़काया लेकिन उसमें नाकामयाब रहे। आज कुर्सी और देश के बीच कुर्सी को प्राथमिकता देने वाले राहुल गांधी एवं सोनिया गांधी की सोच और कृत्य पूरा देश समझ चुका है।