Headlines

GAYA DM ने किया Konch Block में योजनाओं का निरीक्षण। पंचायत सचिव के वेतन पर लगाई रोक।

GAYA DM ने किया Konch Block में योजनाओं का निरीक्षण। पंचायत सचिव के वेतन पर लगाई रोक।
 
GAYA (Faisal Rahmani / Star News Today) : गया डीएम अभिषेक सिंह ने ज़िले के कोंच प्रखंड कार्यालय का निरीक्षण किया। उन्होंने बीडीओ को प्रखंड कार्यालय में प्रखंड का प्रोफ़ाइल एवं मैप लगाने का निर्देश दिया। इसके बाद डीएम ने महादलित टोला यहियापुर व गंगटी के वार्ड नंबर एक में चल रही योजनाओं का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने पाया कि महादलित टोला के ज़्यादातर बच्चे स्कूल नहीं जाते हैं। वहां मौजूद स्थानीय मुखिया को उन्होंने बच्चों को स्कूल भेजने एवं उनको दिए जानेवाले मध्याह्न भोजन की भी निरंतर जानकारी लेते रहने का निर्देश दिया।
डीएम अभिषेक सिंह ने यहियापुर में दौरा कर प्रधानमंत्री आवास योजना, हर घर नल का जल, पक्की नाली-गली आदि योजनाओं की जांच की। जांच के क्रम में वार्ड नंबर 1 के आंगनवाड़ी केंद्र के चलते नहीं पाये जाने पर उन्होंने नाराज़गी ज़ाहिर की। हर घर नल का जल योजना की जांच के दौरान डीएम ने मुखिया को निर्देश दिया कि प्रत्येक घर में नल का प्वॉइंट दें। लोहिया स्वच्छ बिहार योजना के तहत शौचालय निर्माण की स्थिति का भी अभिषेक सिंह ने निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने ने धीमी प्रगति के लिए पंचायत सचिव से स्पष्टीकरण मांगा एवं अगले आदेश तक वेतन अवरुद्ध करने का निर्देश दिया। डीएम अभिषेक सिंह ने मुखिया एवं पंचायत सचिव को निर्देश दिया कि एक महीना के अंदर पंचायत में शौचालय का निर्माण पूरा कराएं।
इसके बाद उन्होंने सिमरा पंचायत के मंगलोर गांव के वार्ड नंबर 9 का निरीक्षण किया। उन्होंने मध्य विद्यालय मांगरोल का निरीक्षण किया। निरीक्षण में सर्वप्रथम शिक्षकों की उपस्थिति पंजी का अवलोकन किया। इसके बाद क्लास में जाकर बच्चों से मध्याह्न भोजन एवं शिक्षण के संबंध में जानकारी प्राप्त की। विद्यालय में मध्याह्न भोजन अंतर्गत बने खिचड़ी चोखा का उन्होंने स्वाद चखा। इसके बाद चावल को थोड़ा और पकाने का निर्देश दिया ताकि कम पके हुए चावल से बच्चों का पेट ख़राब न हो। उन्होंने प्रधानाध्यापक को निर्देश दिया कि वह हर दिन ख़ुद भोजन का स्वाद चखने के बाद बच्चों को दें। साथ ही निर्देश दिया कि एक दिन में दो शिक्षकों को छुट्टी न दें, इससे पढ़ाई बाधित होती है।
डीएम अभिषेक सिंह ने ग्राम पंचायत सिमरा अवस्थित आंगनवाड़ी मांगरोल केंद्र संख्या 123 का भी निरीक्षण किया। सेविका आशा देवी सहायिका राजमणि देवी उपस्थित पाई गईं। निरीक्षण के दौरान बच्चों का वज़न करने वाली मशीन ख़राब पाई गई। उन्होंने बाल विकास परियोजना पदाधिकारी को निर्देश दिया कि बच्चों का वज़न लेने वाली मशीन अविलंब उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।
प्रखंड विकास पदाधिकारी, कोंच को उन्होंने निर्देश दिया कि इंदिरा आवास के तहत जितने भी आवास बनाए गए हैं उन सभी आवासों पर ‘लोगो’ लगवाएं। मांगरोल पंचायत के ग्रामीणों ने डीएम से राशन वितरण में अनियमितता बरते जाने की शिकायत की। उन्होंने बताया कि डीलर हर महीने राशन का वितरण नहीं करता है। डीएम ने टिकारी एसडीओ को निर्देश दिया कि शिकायत से संबंधित जांच करके प्रतिवेदन उपलब्ध कराएं।
क्षेत्र भ्रमण के बाद डीएम अभिषेक सिंह ने किसान भवन, कोंच में जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक की तथा उनसे सरकार के द्वारा चलाई जा रही विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं की प्रगति की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने जनप्रतिनिधियों को कहा कि 2 अक्टूबर 2018 तक हर हाल में सारे पंचायत को ओडीएफ़ घोषित करना है। सात निश्चय में चल रहे कार्य की गुणवत्ता को भी देखने का निर्देश दिया। महादलित टोला में गैस कनेक्शन सरकार के द्वारा निःशुल्क दिया जा रहा है। लोगों के बीच जागरूकता अभियान चलाकर गैस कनेक्शन दिलवाएं।
अभिषेक सिंह ने टिकारी एसडीओ को सीडब्ल्यूजेसी और एमजेसी के लंबित मामलों को एक महीने के अंदर निष्पादित करने का निर्देश दिया। आरटीपीएस काउंटर कोंच के लिए 24 घंटे के अंदर जेनरेटर उपलब्ध कराने का निर्देश प्रखंड विकास पदाधिकारी को दिया।
डीएम के द्वारा बैठक में बुलाने के बावजूद प्रधान सहायक अनुपस्थित रहे। इसके लिए उन्होंने प्रधान सहायक, टिकारी के विरुद्ध प्रपत्र (क) गठित करने का निर्देश दिया। साथ ही अंचलाधिकारी टिकारी से स्पष्टीकरण पूछने तथा अगले आदेश तक वेतन अवरुद्ध करने का निर्देश दिया। समीक्षा के दौरान उन्होंने कहा कि जिन विद्यालयों में बालिकाओं के लिए शौचालय नहीं है, वहां अविलंब शौचालय बनवाना सुनिश्चित करें।
इस अवसर पर भारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रशिक्षु पदाधिकारी योगेश कुमार सागर, अपर समाहर्त्ता राज कुमार सिन्हा, डीडीसी किशोरी चौधरी, जिला ग्रामीण विकास अभिकरण के निदेशक संतोष कुमार, ज़िला गोपनीय प्रशाखा के विशेष कार्य पदाधिकारी सुभाष नारायण, टिकारी एसडीओ मनोज कुमार सहित संबंधित पदाधिकारी उपस्थित थे।