Headlines

अयोध्या मामला:29 जनवरी तक टली  सुनवाई संत नाराज, इकबाल अंसारी ने कहा कोर्ट का फैसला मंजूर

अयोध्या मामला:29 जनवरी तक टली  सुनवाई संत नाराज, इकबाल अंसारी ने कहा कोर्ट का फैसला मंजूर
ब्रेकिंग न्यूज़,राजकाज,राजधानी से
संवाददाता यूपी 
राकेश पाण्डेय
अयोध्या। सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या के राम जन्मभूमि विवाद पर आज कोर्ट के अगली सुनवाई 29 जनवरी तक स्थगित करने पर भले ही संत थोड़ा विचलित है,
 लेकिन बाबरी मस्जिद के मुद्दई इकबाल अंसारी बेहद तसल्ली में हैं। उन्होंने कहा कि इस बड़े फैसले में भले ही थोड़ा समय लग रहा है, पर कोर्ट का जो भी फैसला होगा हमको कुबूल होगा।
 राम जन्मभूमि बाबरी मस्जिद की सुनवाई को 29 जनवरी तक स्थगित होने के बाद बाबरी मस्जिद के मुद्दई इकबाल अंसारी ने कहा कि सुनवाई आज से शुरू होनी थी कुछ कारणों से सुनवाई की तिथि आगे बढ़ा दी गई है। उन्होंने कहा कि कोर्ट तो सुबूतों के आधार पर फैसला करता और जो फैसला कोर्ट करेगा वो माना जाएगा।
 उन्होंने कहा कि कोर्ट पर दबाव उचित नहीं है। राम मंदिर समर्थकों की व्यग्रता के विपरीत बाबरी मस्जिद के पक्षकार मोहम्मद इकबाल ने कहा कि कोर्ट पर कोई दबाव नहीं होना चाहिए। कोर्ट आज फैसला करे या बाद में। वह जो भी फैसला करेगी, उसका स्वागत है। अयोध्या के संत समाज ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। राम मंदिर न्यास के संत राम विलास वेदांती ने चीफ जस्टिस रंजन गोगोई के बेंच में होने पर ही सवाल उठा दिया।
 उन्होंने कहा कि गोगई पूर्व कांग्रेस सीएम के बेटे हैं और कांग्रेस नहीं चाहती कि मामले पर फैसला जल्द हो। संतों ने राम मंदिर पर तारीख पर तारीख मिलने पर सख्त नाराजगी जताई है। अयोध्या के संतों ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि सुनवाई टालने की कोर्ट की इस शैली को लेकर अब संत 31 जनवरी और 2 फरवरी को फैसला करेंगे।