Headlines

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस: 2 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजी गई ब्रजेश ठाकुर की राजदार मधु

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस: 2 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजी गई ब्रजेश ठाकुर की राजदार मधु
मुजफ्फरपुर:स्टार न्यूज टुडे मोहम्मद आसीफ रजा

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामले के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर की राजदार शाइस्ता परवीन उर्फ मधु को कोर्ट ने दो दिनों के पलिस रिमांड पर भेज दिया है. इस दौरान पुलिस उससे स्वाधार केन्द्र से 11 लापता महिला के बारे में पूछताछ करेगी. आपको बता दें कि बालिका गृह को संचालित करने वाली संस्था सेवा एवं संकल्प विकास समिति ही स्वाधार केन्द्र का संचालन करती थी. गौरतलब है कि स्वाधार केन्द्र से 11 महिला लापता हो गई थी, जिसके विरुद्ध मुजफ्फरपुर के महिला थाना में जुलाई में केस दर्ज किया गया था. इसी मामले में पुलिस की अपील पर सुनवाई करते हुए सब जज- 1 कोर्ट ने मधु को पुलिस रिमांड पर भेजा है. आपको बता दें कि बीते 19 दिसंबर को सीबीाई ने जो चार्जशीट दायर की है उसमें शाइस्ता परवीन उर्फ मधु के बारे में कई खुलासे किए गए हैं. चार्जशीट के अनुसार मधु ब्रजेश ठाकुर की खास राजदार थी और एनजीओ सेवा संकल्प और विकास समिति के प्रबंधन से जुड़ी थी. यह लड़कियों को सेक्स की शिक्षा देती थी और गंदे गाने पर डांस करने को विवश करती थी. इससे मना करने वाली लड़कियों को सजा के तौर पर नमक रोटी खाने को दिया जाता था.दरअसल ब्रजेश ठाकुर की राजदार मधु सेवा संकल्प एवं विकास समिति के कार्यों को मैनेज करती थी.  किशोरियों को सेक्स की शिक्षा देती थी और इसके लिए धमकियां भी देती थी.  ब्रजेश ठाकुर ने अपने शहर के समुदाय आधारित संगठन वामा शक्ति वाहिनी की कमान मधु को दे रखी थी. मधु के माध्यम से ब्रजेश ठाकुर ने कई एनजीओ खोला और समाज कल्याण विभाग में अपनी पैठ बनाई. बाद में दोनों ने मिलकर बालिका सुधार गृह खोला और कई तरह के गैरकानूनी कामों को अंजाम दिया. आपको बता दें कि मधु को पहले शाइस्ता के नाम से जाना जाता था.  वह मुजफ्फरपुर के रेडलाइट इलाके चतुर्भुज स्थान की निवासी थी और कुछ साल पहले ठाकुर के संपर्क में आई थी. दरअसल रेड लाइट इलाके से छुड़ाई गईं लड़कियों के पुनर्वास के लिए एक अभियान चलाया गया था, इसके बाद वह ब्रजेश ठाकुर के करीब आई थी.