बुंलद हौसले के साथ गैर संवैधानिक नागरिकता कानून के खिलाफ आंदोलन जारी रहेगा- सत्यनारायण सिंह

 सत्याग्रह आंदोलन का 63 वां दिन

 
समस्तीपुर(मोहम्मद जमशेद),12 मार्च ’20
गैर संवैधानिक नागरिकता कानून वापस लेने की मांग पर समाहरणालय के समक्ष संविधान बचाओ संघर्ष समिति के बैनर तले गत 10 जनवरी से शुरू सत्याग्रह आंदोलन गुरूवार को 63 वें दिन भी अनवरत जारी रहा. दूर-दराज क्षेत्रों से सत्याग्रह में शामिल होने बड़ी संख्या में महिला और पुरुष पहुंचे थे. मौके पर नासरीन अंजुम, साजिदा खातुन एवं सत्यनारायण सिंह की तीन सदस्यीये अध्यक्षमंडल की अध्यक्षता में सभा का आयोजन किया गया. सुरेन्द्र प्रसाद सिंह एवं मो० मेराज आलम ने सभा का बारी-बारी से संचालन किया. मो० रुबैद, पप्पू खान, खालिद अनवर, शाहिद रजा, प्यारे खां, मसीर आलम सिद्धकी, शादमान हसन, मो० मेराज, नसीम अब्दुल्ला, मसूद जावेद, मो० तनवीर आलम, राम विनोद पासवान, सुनील कुमार, गंगा प्रसाद पासवान, महेश पासवान आदि ने सभा को संबोधित करते हुए धर्म के आधार पर नागरिकता कानून लाने वाली मोदी सरकार की जमकर आलोचना करते हुए नागरिकता काला कानून वापस लेने की मांग की. सभा को संबोधित करते हुए अपने अध्यक्षीय भाषण में सत्यनारायण सिंह ने कहा कि बना- बनाया संविधान को भाजपा सरकार कारपोरेट घराने के हाथों औने- पौने दामों में बेच रही है. बैंक डूबता जा रहा है. देशवासियों की गाढ़ी कमाई आज बैंकों के माध्यम से भी सरकार अपने चहेते के हाथों लूटबा रही है. देश की आर्थिक स्थिति सुधारने के बजाए मोदी- शाह काला कानून लाकर देश को हिंदू- मुस्लिम में बांटना चाह रही है लेकिन देश की प्रगतिशील जनता भाजपा एवं संघ के इस मंसूबे को पूरा नहीं होने देगी.