Headlines

पुलवामा का बदला———– अपने दुश्मन को मज़ा खूब चखाया तुमने—–

पुलवामा का बदला———– अपने दुश्मन को मज़ा खूब चखाया तुमने—–
अशरफ अस्थानवी
आखिरकार  वही हुआ जो पूरा  भारत चाहता था। देश के वीर जवानों ने दुश्मनों के छक्के छुड़ा दिए। भारत ने पुलवामा आतंकवादी हमले का बदला ले लिया। भारतीय वायुसेना ने हमले के 13  दिनों के अंदर  मात्र  21 मिनट के अंदर पाकिस्तानी नियंत्रण रेखा  में प्रवेश कर आतंकवाद के ठिकानों को तबाह व बर्बाद कर दिया। और 25 ट्रेनर सहित 350 आतंकवादियों को मौत की नींद सुला दिया। वायुसेना के लड़ाकू  विमानों ने कल तड़के लगभग 3.30 बजे पाकिस्तानी सीमा में प्रवेश कर  जबरदस्त बमबारी की। रक्षा मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक इस ऑपरेशन लेजर गाईडीड बम इस्तेमाल किया गया वायु 12 मिराज 2000 लड़ाकू विमानों ने नियंत्रण रेखा  के पार जाकर बालाकोट सेक्टर में बालाकोट, चकोठी और मुजफ्फर आबादमें जैशमोहम्मद  के ठिकानों पर 1000 किलोग्राम बमों की वर्षा करने के  पाकिस्तान की रक्षात्मक  कार्रवाई से पूर्व  ही सकुशल देश  लौट आए। किसी भी भारतीय विमान पर कोई खराश तक नहीं आया।
पाकिस्तान ने इस हमले की पुष्टि तो की है लेकिन वो जानी माली क्षति को छुपा रहा है। परन्तु  भारत के विदेश सचिव ने आधिकारिक मीडिया ब्रीफिंग द्वारा पूरी विवरण मीडिया के सामने रख दी है और स्पष्ट कर दिया है कि आतंकवादी संगठन जैश भारत पर बड़े हमले की तैयारी कर रही थी इसलिए उसके ठिकानों पर बमबारी करके इसे नष्ट कर दिया गया। इस कार्रवाई में आतंकवादियों के प्रशिक्षण शिविर और बेस कैम्प  पूरी तरह नष्ट हो गए। पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के बाला  कोट, चकोठी और मुजफ्फराबाद में आतंकवादियों के ‘लांच पैड’ भी नष्ट हो गए हैं। जैश मोहम्मद का नियंत्रण कक्ष भी नेस्तनाबूद हो चुका है.इस कार्रवाई में जैश मोहम्मद  के किंग  हाफिज मसूद के निकट संबंधी परिवार सहित कई कुख्यात आतंकवादी मार गिराए गए  हैं।
पाकिस्तान वैसे तो इस्लामी देश होने का दावा करता है, लेकिन इस्लाम के नाम पर गैर इस्लामी कृत  करके इस्लाम और मुसलमानों को निरंतर  बदनाम करता रहा है। इस्लाम वह धर्म है जिसमे  व्यर्थ पानी बहाने की भी अनुमति नहीं है, लेकिन वह निर्दोषों का खून बहाने को भी वैध मानता है और हाफिज मसूद और उसके नापाक संगठन को संरक्षण प्रदान  करता है। यही कारण है कि आज इस्लामी देशों भी पाकिस्तान के खिलाफ हैं और वे दुनिया के अन्य देशों की तरह भारत के साथ मजबूती से खड़े हीं हैं और अबतो चीन ने भी उसका साथ देना छोड़ दिया है।
वायुसेना की इस कार्रवाई के बाद देश की जनता और शहीदों के परिवार जनों  का ग़म कुछ हल्का हुआ है। निसंदेह पूरा   देश भारतीय  प्रतिशोध का इंतजार कर रहा था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की जनता को विश्वास दिलाया था कि न भोलेंगे न माफ करेंगे, बल्कि हर कीमत पर इस कायरतापूर्ण कार्रवाई का बदला लेकर रहेंगे। देश के सभी राजनीतिक पार्टियां भी इस मामले में सरकार और अपने सशस्त्र बलों के साथ मजबूती के साथ खड़ी थीं। सेना को जवाबी कार्रवाई के लिए खुली छूट दे दी गई थी। कब कहां, कैसे और किस समय कार्रवाई करनी है यह निर्णय  सैन्य अधिकारियों को करना था। इसलिए उन्होंने उचित समय पर पूरी योजना के साथ योजनाबद्ध तरीके से पाकिस्तान के आतंकवादी ठिकानों को निशाना बनाया और पुलवामा हमले का बदला लेने में सफलता  प्राप्त  की। यही कारण है कि पूरा  भारत आज बिना धर्म और रानजीतिक मतभेद को भुला कर एक  ज़बान होकर भारतीय वायुसेना के बहादुर जवानों की प्रसंशा  कर रहा है और उन्हें सलाम अर्पित कर रहा है। देश की जनता अपने  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी सहिर्दय  बधाई दे रहे हैं और इस बात को स्पस्ट रूप से स्वीकार कर रहे हैं कि देश का नेतृत्व  मजबूत हाथों में है और देश पूरी तरह सुरक्षित है। हम भी अपने बहादूर  सैनिक को  जवानों और विशेषकर  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हार्दिक बधाई देते  है और आतंकवाद के  उन्मूलन के लिए  उनका शुक्रिया अदा करते हैं।
मर्हबा काम बड़ा कर के दिखाया तुम ने
अपने दुश्मन को मज़ा खूब चखाया तुम ने।
HTML Snippets Powered By : XYZScripts.com