Headlines

 पहले ही मधुबनी लोकसभा क्षेत्र में चुनावी सरगर्मी

 पहले ही मधुबनी लोकसभा क्षेत्र में चुनावी सरगर्मी

आकिल हुसैन।

मधूबनी। मधूबनी लोकसभा क्षेत्र में चुनाव से पहले ही चुनावी सरगर्मी देखने को मिल रहा है। खासकर महागठबंधन में उम्मीदवारों की एक लम्बी सुची बन गइ है। वैसे महागठबंधन के दमखम वाले कांगेसी नेता व वरिष्ट प्रवक्ता सह पुर्व केन्द्रीय मंत्री डा शकील अहमद के तौर पर कांगेसी कार्यकर्ताओं में उम्मीदवरी की काफी चर्चा जोरों पर है। इसी तरह राजद के वरिष्ट नेता सह बिहार सरकार के पुर्व मंत्री अब्दुल बारी सिद्दीकी,पुर्व केन्द्रीय मंत्री डा अशरफ अली फातमी एवं विधायक डा फैयाज अहमद के नामों की चर्चाऐ हैं। दुसरी ओर एनडीए में भाजपा के वर्तमान सांसद हुक्मदेव नारायण यादव के पुत्र केवटी के पर्व विधायक डा अशोक यादव,बिहार सरकार के पुर्व मंत्री सह भाजपा नेता नीतीश मिश्रा,विधान पार्षद व भाजपा नेता सुमन महासेठ एवं भाजपा के वरिष्ट नेता सह राम जानकी सेना के अध्यक्ष मृत्युंजय झा के नामों को लेकर भाजपा के अलग-अलग खेमें से अवा़ज उम्मीदवारी की आ रही है। जबकि भारतीय मित्र पार्टी के नेताओं ने मधुबनी लोकसभा से अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष धनेश्वर महतो के नाम की घोषणा तक कर दिया है। महागठबंधन में सीटों की बटवारा अभी नही हुआ है परंतु राजद के कार्यकर्ताओं में जोश भरने के नाम पर पुर्व केन्द्रीय मंत्री अशरफ अली फातमी ने तो चुनावी बिगुल फुंक दिया है। वह अपनी कार्यकर्ताओं के सम्मेलन में कह रह हैं कि मधूबनी से उम्मीदवार राजद बनाती है तो मधूबनी को हर क्षेत्र में अव्वल लाने के साथ केन्द्रीय विधालय भी खुलने के लिए पुरा प्रयास करेंगे। जबकि कांग्रेसी नेता डा शकील अहमद ने राहुल गांधी की 3 फरवरी को पटना आयोजित हुई आकांक्षा रैली के बहाने मधूबनी के सभी विधान सभा में पुरे दमखम के साथ कई सभाऐं कर अपनी ताकत देखाने का काम किया। तो राजद के वरिष्ट नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी अपने कार्यकर्ता व नेता के बुलाबे पर किसी न किसी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए जरूर मधूबनी लोकसभा क्षेत्र में नजर आ जाते हैं। वहीं राजद नेता डा फैयाज अहमद भी अपने मधूबनी लोकसभा क्षेत्र के बिस्फी में किसी न किसी कार्यक्रम के साथ मधुबनी लोकसभा के दुसरे क्षेत्रों में भी नजर आ रहे हैं। अपने विधान सभा में योजनाओं का उद्घाटन एवं शिलान्यास के बहाने सभाकर योजाना का जाल बिछाने की बात कह रहे हैं। एनडीए में भी इसी तरह का माहौल देखा जा रहा है। वैसे वर्तमान सांसद हुक्मदेव नारायण यादव ने चुनाव नही लड़ने की अभी घोषण नही किया है। परंतु मधूबनी के वर्तमान सांसद के पुत्र पुर्व विधायक अशोक यादव अपने पिता की विरासत संभालने के लिए बेताब हैं। यही कारण है कि मधूबनी में भाजपा की कई बैठकों में पुर्व विधायक अशोकयादव नजर आए हैं एवं पुर्व विधायक के सर्मथकों के द्वारा अशोक यादव के नामों की चर्चा जोरों पर है कि मधुबनी लोकसभा क्षेत्र से अशोक यादव ही चुनाव लड़ेंगे। जबकि पुर्व मंत्री नीतीश मिश्रा के समर्थक के द्वारा उम्मीदवारी की चर्चाऐं काफी बनी हुई है। मधूबनी के विधान पार्षद व भाजपा के वरिष्ट नेता सुमन महासेठ के नाम भी उम्मीदवार के तौर पर आ रहा है। तो वहीं भाजपा के वरिष्ट नेता सह  राम जानकी सेना के अध्यक्ष मृत्युंजय झा ने तो उम्मीदवारी के लिए पुरी ताकत झोक दिया है। भाजपा कार्यक्रम के साथ-साथ अपने राम जानकी सेना के द्वारा कार्यक्रम कर लोगों को दिलों में बैठने की कोशिश में लगे हुए है। इधर भारतीय मित्र पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष धनेश्वर महतो ने मधुबनी लोकसभा में चुनाव से पहले ही सभाओं की झड़ियां लगा दी है। अब मधुबनी लोकसभा की आम जनता की महागठबंधन के सीट बटवारे में नजरे टिकी हुई है। महागठबंधन में टिकट बटवारा नही होने से महागठबंधन के कार्यकर्ताओं में कशमकश का माहौल बना हुआ है कि मधूबनी लोकसभा से कांग्रेस आती है या फिर राजद के उम्मीदवार। टिकट बटवारे से ही महागठबंधन के कार्यकर्ताओं जोश आऐगा। जो भी हो परंतु मधूबनी में टिकट से पहले ही उम्मीदवारों ने किसी न किसी बहाने से अपनी-अपनी सभाऐं कर चुनाव से पहले ही मधूबनी लोकसभा क्षेत्र में चनावी माहौल बना दिया है।

Attachments area

HTML Snippets Powered By : XYZScripts.com