Headlines

अल फ़लाह फ्रंट ने आर्टिकल 341 पर लगी धार्मिक पाबन्दी हटाने की मांग की 

अल फ़लाह फ्रंट ने आर्टिकल 341 पर लगी धार्मिक पाबन्दी हटाने की मांग की 
आर्टिकल 341 पर धार्मिक पाबन्दी संविधान के विरुद्ध है:ज़ाकिर हुसैन


नई दिल्ली 17 अप्रैर( प्रेस नोट)आर्टिकल 341 पर लगी धार्मिक पाबन्दी को लेकर एक बार फिर अल फ़लाह फ्रंट ने अपना ग़ुस्सा ज़ाहिर किया है।अल फ़लाह फ्रंट ने केंद्र सरकार से आर्टिकल 341 पर लगी धार्मिक पाबन्दी हटाने की मांग की है।इस मामले को लेकर अल फ़लाह फ्रंट के अध्यक्ष ज़ाकिर हुसैन ने कहा कि एक धर्मनिरपेक्ष राज्य में इस प्रकार की धार्मिक पाबन्दी  देश के संविधान की अवहेलना करती है।उन्होंने कहा कि संविधान की दफा 14,15,16 और 25 में देश के सभी नागरिकों के साथ समान  व्यवहार की बात कही गयी है।
अतः आर्टिकल 341 पर लगी धार्मिक पाबन्दी पूरी तरह से अनुचित है। ज़ाकिर हुसैन ने  केंद्र सरकार से मांग करते।  हुए कहा कि केंद्र सरकार शीघ्र  इस धार्मिक पाबन्दी को हटाकर मुसलमानो को भी आरक्षण दे।ज्ञात हो कि आर्टिकल 341 पर लगी धार्मिक पाबन्दी के विरुद्ध अल फ़लाह फ्रंट के अतिरक्त यूनाईटेड मुस्लिम मोर्चा और राष्ट्रीय उलेमा कौंसिल एक लंबे समय से लड़ाई लड़ रही हैं।ग़ौरतलब है कि 10 अगस्त 1950 में पंडित नेहरू ने आर्टिकल 341 पर धार्मिक पाबन्दी लगा कर देश मुसलमानो से आरक्षण छीन लिया था फिर 23 जुलाई 1959 में यह राष्ट्रपति राजेन्द्र प्रसाद से यह क़ानून पास करवाया कि जो मुसलमान कभी हिन्दू थी अगर वह पुनः हिन्दू बन जाएं तो उन्हें आरक्षण दिया जायेगा ,अगर यह इस्लाम धर्म का ही पालन करते हैं तो उन्हें आरक्षण नहीं दिया जायेगा।