Headlines

पिस्टल के दम पर अपराधियों ने चालक को बंधक बना कर कार को लूटा

पिस्टल के दम पर अपराधियों ने चालक को बंधक बना कर कार को लूटा
लूट की कार विद्यापतिनगर थाने के बढ़ौना गांव से बरामद


    एक अपराधी पुलिस के गिरफ्त में , तीन फरार


समस्तीपुर(मोहम्मद जमशेद) मुसरीघरारी थाना क्षेत्र के उदाहाट के निकट एन.एच. 322 पर बुधवार की देर रात अल्टो कार पर सवार चार अपराधियों ने पिस्टल के बल पर कार चालक को बंधक बना कर चालक समेत उक्त कार को लेकर दक्षिण दिशा की ओर फरार हो गया. लेकिन घटना के चार घंटे के अन्दर विद्यापतिनगर पुलिस ने उक्त कार को थाना क्षेत्र के बढ़ौना गांव से बरामद करने में सफलता हासिल की. साथ में एक अपराधी को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. वही तीन अपराधी भागने में सफल रहे. जबकि बंधक बनाये गये कार चालक को पुलिस ने महनार थाने से बरामद किया. घटना के बावत मुसरीघरारी थाना क्षेत्र के रूदौली निवासी कार चालक सुरेश महतो के बयान पर गुरूवार की सुबह एक प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है. घटना के संबंध में बताया गया है कि समस्तीपुर नगरथाना क्षेत्र के बारहपत्थर निवासी आलोक राज ने बुधवार की देर शाम करीब आठ बजे अपनी कार टीयूभी महीन्द्रा के चालक सुरेश महतो को मुसरीघरारी थाना क्षेत्र के बथुआ बुजुर्ग से एक रिश्तेदार को लाने के लिए भेजा था. इस बीच थाना क्षेत्र के उदाहाट के समीप एक अल्टो कार ने ओवरटेक कर उनकी कार को रोक दिया. उसके बाद उक्त कार से निकले तीन अपराधियों ने पिस्टल के बल पर उसे बंधक बनाकर कार में ही रख लिया. इसके बाद सभी अपराधी कार समेत दक्षिण दिशा में भाग निकले. इधर, दो घंटे के बाद भी जब चालक कार लेकर वापस नहीं लौटा और उसका मोबाइल भी स्वीच ऑफ बताने लगा तो वाहन मालिक को किसी अप्रिय घटना की आशंका सताने लगी. उन्होंने कार में लगी जीपीआरएस से कार के लोकेशन का पता चला कि उनकी कार महनार थाना क्षेत्र के पास है. उन्होंने महनार थाने को इस आशय की जानकारी दी. जानकारी मिलने पर महनार पुलिस के द्वारा लूटी गयी कार का पीछा करने पर वाहन लूटेरा विदुपुर एवं पटोरी होते हुये पिद्यापतिनगर थाने की ओर निकले. विद्याापतिनगर पुलिस की सक्रियता से लूटी गयी कार को बढ़ौना से बरामद कर लिया गया. वहीं एक लूटेरा को भी पुलिस ने धर दबोचा, इधर कार चालक सुरेश महतो ने नुलिस को बताया कि अपराधियों ने महनार स्थित एक सड़क के किनारे उसे पेड़ में बांध दिया था तथा उसका मुंह भी बंद कर दिया था. विरोध करने पर उसके साथ मारपीट भी की गयी. घटना की सुबह किसी तरह अपना हाथ-पैर खोलकर वहां से भाग निकला और सड़क पर टहलनेवाले एक युवक के मोबाइल से अपनी पत्नी को आपबीती सुनायी. चालक की पत्नी ने पूरी घटना की जानकारी वाहन मालिक को दी.