कोरोना वायरस से भयभीत होने की जरूरत नही है बल्कि सजग एवं सतर्क रहें,एतिहात बरतें-डीएम

  अब्दुल खालिक़ कासमी मुजफ्फरपुर/18/3/2020 समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में आज करोना वायरस को लेकर स्वास्थ्य विभाग एवं अन्य विभागों के द्वारा की जा रही तैयारियों के मद्देनजर जिलाधिकारी डॉ०चन्द्रशेखर सिंह ने एक समीक्षात्मक बैठक की। साथ ही उन्होंने जिलेवासियों से अपील भी किया कि करोना वायरस को लेकर पैनिक होने की जरूरत नहीं है ।कहा कि प्रशासन पूरी तरह से सचेत है एवं तैयारी माकूल है ।इस चुनौती से निपटने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि भयभीत होने की जरूरत नहीं है बल्कि ऐसी स्थिति में एतिहात बरतें एवं सजग रहें ।उन्होंने कहा कि सामान्य /स्वस्थ व्यक्ति को मास्क पहनने की जरूरत नहीं है ।संक्रमित व्यक्ति एवं उनके देखरेख करने वाले लोगों के लिए मास्क जरूरी है। कहा कि सर्दी खांसी बुखार,सांस लेने में कठिनाई आदि का लक्षण यदि दिखाई दे तो तत्काल चिकित्सक से संपर्क करें। बुजुर्ग व्यक्ति को विशेष तौर पर सजग और सचेत रहने की आवश्यकता है ।इसके पूर्व बैठक में उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के द्वारा इस संबंध में अब तक की गई तैयारियों की जानकारी ली साथ ही सिविल सर्जन को निर्देश दिया कि स्वास्थ विभाग अलर्ट मोड में कार्य करें ।किसी भी तरह की कोताही ना बरतें। वहीं सिविल सर्जन मुजफ्फरपुर द्वारा बताया गया कि बाहर से/ अन्य प्रदेशों से आए हुए कुल 59 लोगों की सूची प्राप्त हुई है जिसमें 32 का स्क्रीनिंग किया गया है। साथ ही 11 संदिग्ध मरीजों की जांच की गई है और सभी रिपोर्ट नेगेटिव पाए गए हैं। उन्होंने बताया कि सदर अस्पताल में एवं एसकेएमसीएच में आइसोलेशन वार्ड बनाए गए हैं। संदिग्ध मरीजों की लगातार स्क्रीनिंग की जा रही है ।बैठक में जिलाधिकारी द्वारा नगर निगम और स्वास्थ्य विभाग को हिदायत दी गई कल से ही हर हाल में सफाई अभियान को गति देना शुरू कर दें। उन्हें नगर निगम को निर्देश दिया की 20 सदस्य टीम गठित कर रोस्टर वाइज कार्य कराना सुनिश्चित करें ।नालों की सफाई सरकारी कार्यालयों कैंपस एवं अन्य सार्वजनिक स्थलों घर सफाई अभियान चलाएं। स्वास्थ विभाग भी सफाई अभियान को गति दे।वही आईसीडीएस डीपीओ को निर्देश दिया गया कि आंगनवाड़ी सेविका और सहायिका के माध्यम से डोर टू डोर लोगों को जागरूक करना सुनिश्चित करें।जनसंपर्क विभाग को निर्देश दिया गया कि शीघ्र जागरूकता संबंधी बैनर और फ्लेक्स का संस्थापन जिला और प्रखंड मुख्यालयों में तथा सार्वजनिक स्थलों पर कराना सुनिश्चित करें ।बैठक में उपस्थित आईएमए के प्रतिनिधि द्वारा बताया गया कि लोगों को जागरूक करने हेतु प्राइवेट प्रैक्टिशनर्स चिकित्सक को भी इस अभियान में इंवॉल्व कराया जायेगा ।वही एसकेएमसीएच में करोंना सेसंबंधित संदिग्धों के लिए अलग से ओपीडी कार्य करें, इस बाबत भी विचार विमर्श किया गया। बैठक में जिलाधिकारी ने स्पष्ट रूप से कहा कि सभी विभाग, स्वयंसेवी संस्थाएं, सामाजिक संगठन एवं अन्य संस्थाएं सभी आपसी तालमेल एवं समन्वय के साथ कार्य करें ,लोगों को जागरूक करें ताकि इस चुनौती का सामना किया जा सके।कहा कि सभी विभागों एवं पदाधिकारियो को निर्देशित किया गया कि वे अपने-अपने दायित्वों का निर्वहन समर्पण के साथ करें। बैठक में नगर आयुक्त मनीष कुमार मीणा डीडीसी उज्जवल कुमार सिंह अपर समाहर्ता आपदा अतुल कुमार वर्मा सिविल सर्जन सभी जिला स्तरीय पदाधिकारी ,आईएम के प्रतिनिधि एवं एसकेएमसीएच के चिकित्सक उपस्थित थे।