Headlines

पर्ल घोटाले में फंसेंगे बड़े-बड़े, जांच की आंच युवराज और हरभजन तक पहुंची

नई दिल्ली : 45 हजार करोड के पर्ल ग्रुप घोटाले की जांच तेज होने के साथ ही कई फिल्मी सितारों और क्रिकेटरों पर शिकंजा कस सकता है. घोटाले की जांच कर रहे ईडी और सीबीआई उन हस्तियों की लिस्ट तैयार कर रही है जिन्हें पर्ल कंपनी से फायदा मिला. ऐसे लोगों को कंपनी से मिली मोटी रकम और प्लॉट वापस करने पड़ सकते हैं.

अब तक की जांच से दो बड़े नाम सामने आए हैं. युवराज सिंह और हरभजन सिंह ने कंपनी से मोहाली में बतौर गिफ्ट प्लाट लिए थे.

आस्ट्रेलिया में होटल व्यवसाय को चमकाने के लिए कुछ समय तक आस्ट्रेलियाई क्रिकेटर ब्रेट ली को भी एंबेसडर बनाया गया था. पर्ल ग्रप के चेयरमैन निर्मल सिंह भंगू समेत पर्ल ग्रुप के चार गिरफ्तार अधिकारियों से पूछताछ से पता चला है कि घोटाले की एक बडी रकम आईपीएल मैचों के जरिए क्रिकेटरों और फिल्म स्टारों पर खर्च की गई.

जांच के दौरान पता चला है कि पर्ल ग्रुप ने आईपीएल 4 के अलावा सुपर फाइट लीग और गोल्फ प्रीमियर लीग और कबड्डी में पैसे लगाए थे.

आरोप हैं कि पर्ल ग्रुप ने एक-दो नहीं बल्कि एक हजार से अधिक सिस्टर कंपनियों के माध्यम से देश भर में जमीनों की खरीद- फरोख्त की है.

दरअसल पर्ल गु्रप के काम करने का तरीका बिल्कुल शातिराना रहा है. इस कंपनी ने रियल एस्टेट का काम करने वाली कई कंपनियों को पहले अपना हिस्सेदार बनाया और फिर धंधे को आगे बढ़ाया. कंपनियों को हिस्सादार बनाने के बाद इन कंपनियों ने किसानों सहित अन्य लोगों से औने-पौने दामों पर जमीन खरीदकर इस कंपनी को सौंप दी और इस तरह पर्ल ग्रुप को सस्ती जमीनी मिल गईं.

आपको बता दें कि पर्ल ग्रुप के सीएमडी निर्मल सिंह भंगू और कंपनी के तीन शीर्ष अधिकारी सीबीआई हिरासत में हैं. उन्हें 10 जनवरी को दिल्ली में मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट के सांमने पेश किया है और फिर अदालत ने निर्मल सिंह भंगू और तीनों बड़े अधिकारियों को 19 जनवरी तक सीबीआई की हिरासत में भेज दिया.