‘द कबीर फाउंडेशन’ ने 700 घरों में पहुंचाया ईद का तोहफा

 

ईद का तोहफा मिलते ही रोज़ेदारों के चेहरे पर आई मुस्कान

आमस

देशव्यापी लॉकडाउन ने दिहाड़ी मज़दूरों, रिक्शा व ठेला चालकों, ग़रीब और असहाय लोगों के लिए काल बन गया है। क्योंकि सरकार बीते 23 मार्च से ही कोरोना पर काबू पाने के लिए समूचे देश में लॉकडाउन की घोषणा कर चुकी है। जिसके कारण गरीबों के घरों में चुल्हे नहीं जल पा रहे हैं। इसी पीड़ा को समझते हुए कोरोना काल में “द कबीर फाउंडेशन” द्वारा लुक़मा अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के तहत बुधवार को प्रखण्ड के अकौना में तीस रोज़ेदारों को ईद का तोहफा दिया गया। जिसमें लच्छा, चीनी, खजुर, साबुन, सर्फ, अतर और दो सौ रुपया कैश शामिल है। संस्था के चेयरमैन नजमुद्दीन नजमी ने बताया कि इसके अलावा शेरघाटी के लोदीशहीद, काज़ी मोहल्ला, अनवारगंज, लोहार टोली, रमना, चट्टी, नया बाज़ार, लगन तकिया, मियाँ बाडा, आमस प्रखण्ड के बैदा और हज़ारीबाग़ में ईद तोहफा बाँटा गया है। श्री नजमी ने कहा कि लोगों कि आर्थिक मदद से अबतक 700 घरों में लुक़मा अभियान के माध्यम से ईद का तोहफा पहुँचाया जा चुका है। यह अभियान ईद से पूर्व तक जारी रहेगा ताकि ज़रूरतममन्दों को इसका लाभ मिल सके।