Headlines

पठानकोट हमला: राजनाथ सिंह बोले, पाकिस्तान ने किया है वादा, हम करेंगे इंतजार

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि पठानकोट हमले में पाकिस्तान ने ठोस कार्रवाई का भरोसा दिया है, लिहाजा भारत कार्रवाई को लेकर पड़ोसी मुल्क के रुख का अभी इंतजार करेगा। गृह मंत्री ने मंगलवार को कहा कि पाकिस्तान पर इतनी जल्दी अविश्वास करने का कोई कारण नहीं है।

यहां एक कार्यक्रम से इतर राजनाथ ने कहा कि पठानकोट हमले में पाक की ओर से कार्रवाई को लेकर हमें थोड़ा इंतजार करना चाहिए। दोनों देशों के बीच 15 जनवरी से इस्लामाबाद में विदेश सचिव स्तर की वार्ता होनी है और हमले के बाद वार्ता को लेकर असमंजस कायम है।

गौरतलब है कि भारत ने पाकिस्तान को हमले में आतंकी साजिश से जुड़े तमाम सबूत मुहैया कराए हैं। सरकार की ओर से कहा गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी अपने पाकिस्तानी समकक्ष नवाज शरीफ से फोन पर बातचीत पर हमले के जिम्मेदार लोगों पर कड़ी कार्रवाई करने को कहा है। सरकार की ओर से जानकारी दी गई थी कि आतंकी हमले से जुड़े खुफिया जानकारी और पाकिस्तान में बैठे साजिशकर्ताओं से जुड़े तमाम साक्ष्य शरीफ सरकार को मुहैया कराए गए हैं।

पाकिस्तान मीडिया में सोमवार को खबरें आई थीं कि बहावलपुर जिले में सुरक्षा एजेंसियों ने पठानकोट हमले से जुड़े कुछ संदिग्धों को पकड़ा है। बहावलपुर जैश ए मोहम्मद के सरगना मौलाना मसूद अजहर का गृह जिला है। भारत ने मसूद अजहर, उसके भाई रऊफ और पांच अन्य पर दो जनवरी को हुए पठानकोट हमले की साजिश का आरोप लगाया है।

सांबा-कठुआ हमले जैसा पठानकोट अटैक: एनआईए
राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की एक टीम ने मंगलवार को जम्मू क्षेत्र के कठुआ और सांबा इलाके का दौरा किया। टीम ने मुआयने में पाया कि पठानकोट हमले और कठुआ व सांबा के सैन्य व पुलिस ठिकानों परं पहले हो चुके आतंकी हमलों में काफी समानताएं हैं। इन आतंकी हमलों की जांच एनआईए के हाथों में ही है।

एनआईए सूत्रों के मुताबिक, जम्मू-पठानकोट हाईवे के सांबा इलाके में स्थित सैन्य शिविर का दौरा किया। यहां 21 मार्च 2015 को दो आतंकियों ने धावा बोला था। टीम ने कठुआ के राजबाग पुलिस स्टेशन का भी मुआयना किया, जहां 20 मार्च को हमला हुआ था।

सूत्रों का कहना है कि जांच एजेंसी ने पाया कि सांबा में हमला करने वाले आतंकी भी सुरक्षा बलों के साथ लंबी मुठभेड़ के लिए खाने-पीने का सामान साथ लाए थे। उन आतंकियों ने सांबा सैन्य कैंप के सामने एक आवास के पास ठिकाना भी बना लिया था। आतंकियों ने घुसपैठ के बाद जल्दी से जल्दी हमला करने की रणनीति अपनाई, ताकि सुरक्षा एजेंसियों की पकड़ में न आ सकें।

सलविदंर सिंह पर संदेह गहराया
पठानकोट वायुसैनिक अड्डे पर आतंकी हमले में संदेह के दायरे में आए गुरदासपुर के पूर्व एसपी सलविदंर सिंह से एनआईए के दिल्ली मुख्यालय में मंगलवार को लगातार दूसरे दिन पूछताछ की गई। एनआईए के सूत्रों ने बताया कि सलंविदर के जवाब से जांच एजेंसी संतुष्ट नहीं है, उनके बयानों में विरोधाभास साफ है। उनका लाई डिटेक्टर टेस्ट भी किया जा सकता है।

एनआईए ने सलविंदर के फोन को फोन को फोरेंसिक लैब भेजा है, ताकि उससे संभवत: आतंकियों द्वारा की गई काॠलों के बारे में पता लगाया जा सके। सूत्रों के अनुसार सलविंदर से पूरी पूछताछ खत्म करने के बाद उनके रसोइये मदन गोपाल को तलब किया जाएगा। फिलहाल मदन गोपाल और सलविंदर सिंह के मित्र राजेश वर्मा से पंजाब पुलिस पूछताछ कर रही है। दस सदस्यीय एनआईए टीम ने पंज पीर दरगाह के संचालक सोमराज को पूछताछ के लिए तलब किया है। एसपी रैंक के अधिकारी सलविंदर सिंह ने दावा किया था कि आतंकियों ने जब उनका अपहरण किया था तो वे दरगाह से लौट रहे थे। यह दरगाह बामियाल से कुछ किलोमीटर की दूरी पर है, जहां से माना जा रहा है कि आतंकियों ने भारत में घुसपैठ की।

बंबावले ने पाकिस्तानी उच्चायुक्त का पद संभाला
विदेश सचिव स्तर की वार्ता को लेकर अनिश्चितता के बीच पाकिस्तान के लिए नवनियुक्त उच्चायुक्त गौतम बंबावाले ने मंगलवार को अपना पद संभाला। इस्लामाबाद रवानगी से पहले उन्होंने कहा कि वह पड़ोसी देश में अमन और दोस्ती का पैगाम लेकर जा रहे हैं। चीन एवं पूर्वी एशिया के विशेषज्ञ बंबावाले इससे पहले भूटान में राजदूत थे।

फिरोजपुर में लाइनमैन को आतंकी समझने से हड़कंप मचा
फिरोजपुर शहर में फोन लाइन की मरम्मत के लिए दीवार पर चढ़ रहे दो टेलीफोन लाइनमैन को गलती से आतंकवादी समझ लिया गया। इसके चलते शहर में हड़कंप मच गया। सेना और सुरक्षा बल घंटों मशक्कत में लगे रहे और पूरे छावनी क्षेत्र को घेर लिया गया। हालांकि जब सीसीटीवी फुटेज को खंगाला गया तो पता चला कि दोनों सिग्नल रेजीमेंट के टेलीफोन लाइनमैन थे और इलाके से गुजर रही फोन की तारों की मरम्मत के लिए आए थे। आतंकियों की घुसपैठ की खबर से अभिभावक अपने बच्चों को लेने के लिए स्कूलों के पास एकत्रित हो गए।