8 प्रखंडों के 107 पंचायत बाढ़ से घिरे हैं ,

डी एम दरभंगा(मोहम्मद शादाब अंजुम) जिलाधिकारी, दरभंगा डॉ. त्यागराजन एस.एम ने दरभंगा समाहरणालय परिसर अवस्थित अंबेडकर सभागार में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए जिला में बाढ़ की स्थिति एवं इससे निपटने की तैयारी एवं चल रहे राहत कार्यों से अवगत कराते हुए बताया कि अभी तक दरभंगा जिला
के 8 प्रखंडों के 107 पंचायत बाढ़ से घिरे हैं जिनमें 48 पंचायत पूर्णतः एवं 59 पंचायत अंशतः प्रभावित हैं, जिनमें 281 गांव के 83173 परिवार प्रभावित हुए हैं। सभी प्रभावित स्थानों पर प्रभावित व्यक्तियों के लिए सामुदायिक रसोई चलाकर भोजन की व्यवस्था कराई गयी है। वर्तमान में 162 सामुदायिक रसोई का संचालन किया जा रहा है, जिसमें 42559 व्यक्ति सुबह शाम भोजन कर रहे हैं। आवश्यकतानुसार पॉलीथिन शीट्स का वितरण किया जा रहा है अभी तक 6290 पॉलिथीन शीट वितरण किया जा चुका है इसके अतिरिक्त प्रखण्ड विकास पदाधिकारियों एवं अंचलाधिकारियों को प्रभावित क्षेत्रों की जरूरत के हिसाब से मांग भेजने का भी निर्देश दिया गया।
वैसे बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों जहाँ सूखा एवं ऊंचा स्थान नहीं मिलने के कारण सामुदायिक रसोई का संचालन नहीं हो सकता है वहाँ सूखा खाद्य पैकेट का वितरण करवाया जा रहा है। केवटी प्रखंड के रसलपुर और हिंदवाड़ा में 950 सूखा फ़ूड पैकेट का वितरण करवाया गया है एवं अन्य प्रखंडों से जिला भंडार गृह से आवश्यकता अनुरूप पैकेट्स मांगने एवं वितरित करने का निर्देश दिया गया है।
बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में आवागमन एवं राहत कार्यो के लिए 188 निजी नाव एवं 38 सरकारी नाव कुल 226 नाव चलवाया जा रहा है। इसके अतिरिक्त एनडीआरएफ एवं एसडीआरएफ की तीन टीमें लगायी गयीं हैं जिनमें 90 व्यक्ति 17 मोटर वोट तैनात किए गए हैं, जो बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में लगातार रेकी कर बचाव एवं राहत कार्य कर रहे हैं।
जिलाधिकारी द्वारा बताया गया कि बागमती नदी में जलस्तर बढ़ने के कारण हायाघाट एवं हनुमाननगर प्रखंड भी धीरे-धीरे प्रभावित हो रहा है, वहाँ की स्थिति पर नजर रखने एवं राहत कार्यो शुरू करने के लिए अनुमंडल पदाधिकारी सदर को निर्देशित किया गया है। साथ ही सभी प्रखंडों के वरीय प्रभारी पदाधिकारी प्रतिदिन अपने अपने क्षेत्र में भ्रमण कर सामुदायिक रसोई, पॉलीथिन शीट वितरण एवं अन्य राहत एवं बचाव कार्य की निगरानी कर रहे हैं।
जिला स्तर पर बाढ़ से संबंधित सूचना एवं बचाव कार्य के लिए 24×7 कंट्रोल रूम की स्थापना कर वहाँ पदाधिकारियों एवं कर्मियों की प्रतिनियुक्ति की गई है। जिसका नंबर 6272-245055 है तथा यहाँ आने वाले फोन पर त्वरित कार्रवाई की जा रही है।
कमला एवं कोसी नदी के जलस्तर पर भी नजर रखते हुए इसके पेट में बसे बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रों में बचाव व राहत कार्य किए जा रहे हैं। बाढ़ राहत राशि प्रदान करने के लिए भी सर्वेक्षण कर प्रभावित लोगों के खातों में राशि पहुंचाने पर कार्य चल रहा है। बाढ़ से हुए गृहक्षति का भी आकलन कर जियो टैगिंग एवं अन्य प्रतिवेदन प्राप्त कर राहत पहुंचाने की व्यवस्था की जा रही है।
इसके साथ ही जिलाधिकारी द्वारा मीडिया कर्मियों से भी जिला अंतर्गत चल रहे कार्यों एवं स्थिति की जानकारी प्राप्त की गई तथा आपदा प्रभारी सत्यम सहाय को तत्काल आवश्यक कार्य करने का निर्देश दिया गया।