केजरीवाल ने घूस मांगने पर खाद्य मंत्री को हटाया, मांगी थी 6 लाख की रिश्वत

केजरीवाल ने घूस मांगने पर खाद्य मंत्री को हटाया, मांगी थी 6 लाख की रिश्वत

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को भ्रष्टाचार के आरोपों में घिरे खाद्य आपूर्ति मंत्री आसिम अहमद खान को पद से बर्खास्त कर दिया है।

आसिम पर एक बिल्डर से 6 लाख रुपये घूस लेने का आरोप है। केजरीवाल ने एक स्टिंग के बाद लगे इन आरोपों की सीबीआई से जांच कराने की सिफारिश कर दी है। सरकार ने इमरान हुसैन को नया खाद्य आपूर्ति मंत्री बनाया है।

इमारत को बनने से रोका
मुख्यमंत्री ने शुक्रवार शाम एक पत्रकार वार्ता आयोजित कर अपना फैसला सुनाया। उन्होंने कहा, आरोप लगे हैं कि विधानसभा परिसर में एक इमारत बन रही है। मंत्री आसिम की ओर से इस इमारत को बनने से रोका गया। काम जारी रखने की एवज में इमारत बनाने वाले बिल्डर से छह लाख रुपये मांगे गए। रकम देने के बाद ही इमारत का निर्माण शुरू हो सका। इसकी शिकायत हमें गुरुवार को मिली थी। एक व्यक्ति ने आसिम द्वारा रकम मांगे जाने का ऑडियो स्टिंग किया, जिसकी असली कॉपी केजरीवाल को सौंपी थी।

24 घंटे में की कार्रवाई
केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया द्वारा स्टिंग वाली एक घंटे की रिकॉर्डिंग सुनने के बाद आसिम को पद से हटाने का फैसला लिया। सीएम ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा, ऐसा राजनीति के इतिहास में कभी नहीं हुआ। एक दिन पहले ही हमें इस मामले की शिकायत मिली थी। रातभर हमने इस मुद्दे पर गौर किया। शुक्रवार सुबह ही हमने उन्हें पद से हटा दिया है। उन्होंने बताया कि बिल्डर और मंत्री के बीच एक बिचौलिया भी है इस पर भी जल्दी कार्रवाई की जाएगी।

भाजपा पर निशाना साधा
पत्रकारों को स्टिंग की ऑडियो सुनाने के बाद केजरीवाल ने भाजपा पर निशाना साधा। उन्होंने पूछा कि क्या भाजपा भ्रष्टाचार के आरोपों में घिरे मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को पद से हटाएगी।

अगर मेरा बेटा भी भ्रष्टाचार करेगा तो मैं उसे भी कोई राहत नहीं दूंगा। अगर आप लोगों को कहीं भ्रष्टाचार की शिकायत मिलती है तो आप हमें सबूत दें। हम जल्द कार्रवाई करेंगे।
-अरविंद केजरीवाल, मुख्यमंत्री दिल्ली

केजरीवाल कभी नजीब जंग से लड़ते हैं तो कभी पीएम से, राजनाथ सिंह से। अब अपनों से जंग लड़ रहे हैं। उनकी जंग की कहानी उनपर छोड़ दें, दिल्ली का जवाब हम उन्हें दिल्ली में ही देंगे।
-रविशंकर प्रसाद, केंद्रीय मंत्री

आठ महीने से कम समय में केजरीवाल सरकार के एक तिहाई मंत्रियों पर भ्रष्टाचार के आरोप लग गए हैं। यह कैसी सरकार है।
-अजय माकन, कांग्रेस नेता

हटाए जाने वाले दूसरे मंत्री
मटिया महल सीट से विधायक आसिफ अहमद ने दिल्ली चुनाव में इस सीट से पांच बार के विधायक शोएब इकबाल को भारी अंतरों से हराया था। पहली बार चुनाव जीतने के साथ ही उन्हें मंत्री पद भी मिल गया था। आसिम से पहले फर्जी डिग्री विवाद में घिरे दिल्ली के कानून मंत्री जीतेंद्र तोमर को चार माह पहले केजरीवाल सरकार ने पद से हटा दिया था।

स्टिंग रिकॉर्डिंग में बोले
स्टिंग की ऑडियो रिकॉर्डिंग में आसिम कथित रूप से यह कहते हुए सुनाई दे रहे हैं कि बात आठ लाख रुपये पर तय हुई थी तो उतने ही पैसे दो। अभी चार घंटे केजरीवाल ने अपनी बैठक में पकाया है। दिमाग खराब मत करो।

‘आप’ के इन विधायकों पर भी गिरी है गाज
आप विधायक सोमनाथ भारती को अपनी पत्नी द्वारा दर्ज कराए गए हत्या के प्रयास और घरेलू हिंसा के मामले में दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

दिल्ली के पूर्व कानून मंत्री जितेंद्र सिंह तोमर को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने फर्जी डिग्री मामले में पद से हटा दिया था।

आप विधायक दिल्ली विधानसभा स्पीकर राम निवास गोयल के खिलाफ कोर्ट ने गिरफ्तारी का वारंट जारी किया था। राम निवास गोयल पर 2008 में दंगे भड़काने का आरोप था।

आप विधायक सुरेंद्र सिंह को एनडीएमसी कर्मचारी के साथ मारपीट करने के आरोप में दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया था।