Headlines

कतिकनार में बड़ा हादसा,सड़क दुर्घटना में 10 की मौत

कतिकनार में बड़ा हादसा,सड़क दुर्घटना में 10 की मौत

रिपोर्ट रामराज सिंह बक्सर

नावानगर (बक्सर) : थाना क्षेत्र अंतर्गत कतिकनार में शनिवार की सुबह एक ही परिवार के चार लोगों सहित दस नाते रिश्‍तेदारों की सड़क दुर्घटना में मौत होनें की खबर ने पूरे इलाके में सनसनी फैला कर रख दी है। दो दिन पहले जिस घर में खुशहाली का माहौल था, अब उस घर में चीख चित्‍कार की आवाज सुनाई दे रही। इससे से पूरा इलाका शोक में डूब गया हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार नावानगर प्रखंड क्षेत्र के कर्तिकनार गांव निवासी स्वर्गीय सकलदेव सिंह के पुत्र मंटू सिंह (आर्मी के जवान) अपने इकलौता पुत्र रौनक कुमार के मुंडन संस्कार के लिए एक सप्‍ताह पूर्व छुट्टी लेकर गांव पर आए थे। पिछले 4 मार्च को जिला बक्सर मुख्यालय में गंगा घाट पर मुंडन संस्कार की मनौती पूरी की गई। इस मुंडन संस्कार में रांची (झारखंड) में रहने वाले इनके सगे संबंधी और ससुराल के लोग भी काफी उत्साह पूर्वक शामिल हुए थे। मुंडन संस्कार के दो दिन बाद 6 मार्च को गांव में प्रीतिभोज का आयोजन भी काफी शौक और श्रद्धा पूर्वक किया गया था। , जिसमें पूरे गांव सहित रिश्तेदारों को आमंत्रित किया गया था। धुमधाम से मुंडन संस्‍कार कराने के बाद सभी परिवार के लोग शुक्रवार की शाम लगभग 3: बजे के करीब अपने ही रिश्तेदार के इनोवा कार से रांची के लिए रवाना हुए। लेकिन होनी को कुछ और ही मंजूर था। झारखंड के नेशनल हाईवे 33 पर कुजू ओपी के समीप बिरसा चौक पर ट्रक और इनोवा कार के आमने-सामने दर्दनाक टक्कर हो गई। टक्‍कर इतना जोरदार था की कार के परखच्चे उड़ गए और इसमें सवार फौजी जवान के पूरा परिवार स‍हित ससुराल पक्ष के सभी लोग काल के गाल में समा गए। रांची में सड़क दुर्घटना के दौरान मरने वालों में आर्मी के जवान मंटू सिंह 45 वर्ष, फौजी की पत्नी सरोज देवी 40 वर्ष, इकलौती पुत्री कली कुमारी 14 वर्ष एवं इकलौता पुत्र जिसके मुंडन संस्कार के लिए सभी लोग उक्त गाड़ी में रौनक कुमार 5 साल के साथ ही फौजी के ससुर योगीबीर हाल्ट निवासी है। सत्यनारायण सिंह, साला अजीत सिंह, साढ़ू सुबोध सिंह, छोटी साली रिंकू देवी और साढ़ू की पुत्री खुशी कुमारी के साथ ही चालक विजय कुमार की ऑन दी स्‍पॉट दर्दनाक मौत हो गई। मौत की मनहूस खबर सुनते ही कर्तिक‍नार गांव में मातमी सन्नाटा पसर गया। परिजनों के चीख चित्‍कार से पूरें गांव में गम का माहौल कायम हो गया। घटना की सूचना पर क्षेत्रीय नावानगर थाना प्रभारी जुनैद आलम , पहुंच पीड़ित परिवार के दुख में शामिल होकर राहत पहुंचाने के लिए तत्पर दिखे