दिल्ली में सातों सीटों पर कांग्रेस की जीत का हाश्मी और उनकी धर्मपत्नी ने किया दावा  

दिल्ली में सातों सीटों पर कांग्रेस की जीत का हाश्मी और उनकी धर्मपत्नी ने किया दावा  
नयी दिल्ली: कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता और पीस ऑलवेज के चेयरमैन हकीम अयाज़ हाशमी ने आज अपनी धर्मपत्नी एडवोकेट एरम हाशमी के साथ अपना वोट डाला. वोट डालने के बाद उन्होंने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि दिल्ली में जिस तरह से कांग्रेस पार्टी की लहर चल रही है उसकी विरोधियों ने कल्पना भी नहीं की होगी. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी को दिल्ली में सभी समाज के लोगों का बंपर वोट मिल रहा है. डॉक्टर हाशमी ने दावा किया कि यह दिल्ली का इतिहास है कि जिसको दिल्ली की सातों सीटें मिली हैं उसी ने दिल्ली पर राज किया है और मैं यह दावे से कह सकता हूं कि दिल्ली में इस बार 7 सीटें भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस को मिलने जा रहे हैं.
 उन्होंने कहा कि दिल्ली के लोगों ने कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी और दिल्ली की अध्यक्ष शीला दीक्षित के नेतृत्व पर विश्वास किया है. उन्होंने कहा कि जहां लोगों को शीला दीक्षित के नेतृत्व वाली बीते 15 साल की सरकार के काम काज पर भरोसा है वहीं लोगों को इस बात का पूरा विश्वास है कि सत्ता में आने के बाद कांग्रेस न्याय जरूर देगी. उन्होंने कहा कि देश ही नहीं दिल्ली में भी न्याय का जादू सर चढ़कर बोल रहा है. उन्होंने कहा कि लोग भारतीय जनता पार्टी के “अन्याय” से आहत हैं और जिस तरह से आम आदमी पार्टी ने झूठ अफवाह और छल की राजनीति की है उस से लोग परेशान हैं, इसलिए इस से निजात चाहते हैं.
 हाशमी ने कहा कि लोगों ने अपना मत देकर स्पष्ट कर दिया है कि वह अन्याय के खिलाफ “न्याय” के लिए वोट कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी और बीजेपी की मिलीभगत ने जिस तरह से दिल्ली वालों को परेशान किया है आज दिल्ली के बच्चे भी बीमारियों से ग्रस्त हो रहे हैं. पोल्लुशण से लोगों का बुरा हाल है. मोहल्ला क्लीनिक में भेड़ बकरियां पाली जा रही हैं. कांग्रेस के दौर में शुरू की गई क्लीनिक को बंद कर दिया गया है.
 उन्होंने कहा कि राजनीति का मकसद मतभेद होना है मनभेद नहीं, लेकिन आम आदमी पार्टी और बीजेपी दोनों जनता के हितों से समझौता करके कांग्रेस राज में जनता के लिए शुरू की गई स्कीमों को बंद कर के बदले की भावना से काम कर रहे हैं इसलिए जनता ने मन बना लिया है कि इस बार वह कांग्रेस को सत्ता में लाएगी और राहुल गांधी देश के अगले प्रधानमंत्री होंगे.
 इस अवसर पर हाशमी की धर्मपत्नी अधिवक्ता एरम हाशमी ने कहा कि वह अपने वोट को डाल कर के काफी खुशी महसूस कर रही हैं. उन्होंने कहा कि वोट डालना हर नागरिक का लोकतांत्रिक अधिकार है. इसके लिए वह संविधान के बानी डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की आभारी हैं कि भारत में एक वोट की कीमत जो अंबानी की है वही आम आदमी की उन्हों ने दी है. उन्होंने कहा कि हमें यह समझना होगा कि लोकतंत्र में लोगों को ताला नहीं जाता है बल्कि सरों गिना जाता है. उन्होंने कहा कि जब तक हम अपने मतों का इस्तेमाल नहीं करेंगे तब तक हम कैसे एक अच्छे नागरिक बन सकते हैं. हम ऐसे लोगों को अपने बच्चों का भविष्य तय करने नहीं देना चाहते जो शिक्षित और शासित ना हो तो उन्हें देश का भविष्य तय करने की अनुमति कैसे दे सकते हैं और यह तभी संभव है जब हम वोट का प्रयोग करें हमें संप्रदायिक शक्तियों को वोट से चोट करना.