Headlines

थानेदार ने उठाया कुदाल, बचाया गरीब की झोपड़ी, गदगद हुए ग्रामीण

थानेदार ने उठाया कुदाल, बचाया गरीब की झोपड़ी, गदगद हुए ग्रामीण

स्टार न्यूज़ रामराज सिंह बक्सर

नावानगर थाने की तारीफ हर बुद्धिजीवी के जुबान पर आने लगी है। कभी-कभी वर्दी वाले भी सामाजिक पहल करते हुए ग्रामीणों की समस्या को समाधान कराते दिख ही जाते हैं। इसका ताज़ा मिसाल पेश किया है नावानगर थानाध्यक्ष जुनैद आलम ने स्थानीय थाना क्षेत्र के चनवथ गांव स्थित दो समुदायों के बीच पानी को लेकर विवाद गहराता जा रहा था। अचानक दोनों पक्ष शनिवार को आमने सामने हो ही गए। ग्रामीण हरेंद्र राय और सत्येंद्र राय , महादलित बस्तियों मे जामा पानी का निकास बंद कर दिए थे। जिसके चलते बस्तियों में पानी का जमाव बढ़ते जा रहा था। इसकी सूचना किसी ने नावानगर थाना प्रभारी जुनैद आलम को दे दी । जिस पर तुरंत दल बल के साथ पहुंचकर देर शाम तक सीओ अमरेश कुमार , तथा वरीय पदाधिकारीयों से बात कर तुरंत समस्या का समाधान करा कर गरीबों और दलितों की बस्ती को पानी में डूबने से बचाया। खुद पानी भरा गढ़ा में प्रवेश कर कुदाल से पानी का निकास अपने हाथ से बनाया‌। इस साहसी व जनहित कार्य को देख ग्रामीणों के बीच खुशी की लहर दौड़ा आई। ग्रामीणों की मानें तो बरसों से विवाद चल रहा था। बड़े लोग गरीबों पर रोब जमा रहे थे। अगर एन मौका पर पुलिस नहीं पहुंचती तो कोई बड़ा अप्रिय घटना से इंकार नहीं किया जा सकता था। जलजमाव को लेकर ग्रामीण एक दूसरे को देख लेने पर उतारू हो गए थे। इस तरह के थाना प्रभारी के सामाजिक कार्यों को देख पूरे ग्रामीणों के बीच खुशी की माहौल देखी गई। गरीबों की हक तथा उचित न्याय दिलाने के लिए सामाजिक कार्यकर्ता के साथ रणनीतिक सुरमाओ ने दिल से बधाई दी